इस लेख का उद्देश्य कोरोना वायरस मन की बात के माध्यम से लोगो तक अपनी बात को पहुँचाना हैं । कोरोना वायरस एक ऐसे महामारी है, जिसे COVID 19 के नाम से भी जाना जाता हैं।  जिससे आज संपूर्ण संसार जूझ रहा है, शायद ही कोई ऐसा देश हो जो इससे अछूता रह गया हो । 

लोगो के दिमाग में इस वायरस का खौफ हो गया है की सामान्य खांसी, बुखार से भी लोग घबरा रहे हैं । क्योंकि हमारे दिमाग में जो चलता हैं वही हमारे सामने आ जाता हैं हैं ।  मेरा कहने का मतलब हैं की आप इस नाजुक घडी में घबराये नहीं बल्कि धैर्य के साथ अपने कार्य करें । 

कोरोना वायरस मन की बात

कोरोना वायरस की वजह से वैसे ही लोगो की नौकरिया चली गयी हैं, जिनके पास हैं तो उनको भी पूरी सैलरी नहीं मिल रही हैं, या सैलरी ही नहीं मिल रही हैं , जिन लोगो की नौकरी बची है, उनसे फिक्स टाइम से से ज्यादा काम करा रहे है, कोई भी अपनी बात को नहीं कह पा रहा हैं । ये तो सिर्फ कहने की बातें हैं की आप अपने आस -पास अगर कोई कोरोना पॉजिटिव हैं तो आप उससे sympathy रखो, उसकी family का ध्यान रखो, ऐसा कुछ नहीं हैं ,  पिक्चर बिलकुल डिफरेंट हैं ।  हालांकि सब एक जैसे नहीं होते, बहुत सारे लोग ऐसे भी हैं जो अपनी जाने के परवाह किये बिना इस सेवा में तत्पर हैं ।

इस बीमारी ज्यादा अपने आप पर हावी ना हो दे, क्योंकि कोरोना तो बाद में आएगा पता लगा कोरोना के डर से ही जीवन समाप्त हो गया ।  इसलिए नौकरी जाए, या कितनी भी बड़ी समस्या आ जाए हमे अपना , अपने घरवालो और आस – पास का ध्यान रखना हैं । 

समय बड़ा बलवान हैं हर समस्या का निदान ढूढ़ ही लेता हैं, जब अच्छा समय नहीं रहता तो तो बुरे समय की भी अपनी एक निश्चित समय सीमा हैं , उसके बाद वह खुद पे खुद चला जाएगा ।

दुनिया में हर देश में इसके इलाज़ का उपाय निकाला जा रहा हैं , तबतक हमे सिर्फ अपने आप को स्वस्थ रखना है, अगर हम अपने आप को स्वस्थ रखेंगे , तो कोरोना को जल्द ही दुनिया से हटा देंगे । अच्छा सादा खाना खाये , व्यायाम करे, मन को खुश रखे, लोगो से बात करें, अपने आप को व्यस्त रखे , सकारात्मक सोच रखे, और जो भी गवर्नमेंट की गाइडलाइन्स हैं उनका  बराबर अनुसरण करें ।

इस कोरोना में एक दूसरे को कोआपरेट करें, समाज के कुछ लोग  कोरोना का फायदा भी  उठाना चाहते हैं या उठा रहें हैं, इस समय हर आदमी अपने आप को सबसे मजबूर महसूस कर रहा हैं जो चाहते हुए भी कुछ नहीं कर पा रहा हैं ।  आपके कर्म ही आपकी पहचान को बनाते हैं, इसलिए हमे किसी जरुरत मंद की मदद करनी हैं ना की उसका फायदा उठाना हैं । 

इस कोरोना ने बहुत की जान ले ली, जिन लोगो ने भी अपने घर के इंसान को खोया हैं, उनके दुःख का अंदाजा लगाना मुश्किल हैं । लेमन वाटर और गुनगुने पानी का सेवन करे और सोशल डिस्टन्सिंग को मेन्टेन करके हम कोरोना को मात दे  ।

सब लोग एक साथ मिलकर एक दूसरे को ख्याल रखे । कोरोना से जंग जीतेंगे और अपने जीवन को फिर से अच्छे से जियेंगे ।

मन के हारे हार हैं और मन के जीते जीत , यह बात बिलकुल सच हैं अगर हम पहले से ही सोच लेंगे की हम नहीं जीतेंगे तो हमारी हार निश्चित लेकिन अगर हम सोचेंगे की हम जीतेंगे तो हम जरूर जीतेंगे , इसलिए हार शब्द को अपने दिमाग की डिक्शनरी से डिलीट करके आगे बढ़ो, यही जीवन का सार हैं । 

एक बात तो हैं कोरोना ने सबको तो नहीं पर बहुतों को इंसान बना दिया । लोग एक दूसरे की वैल्यू करने लगे हैं ।

कोरोना गया नहीं हैं अभी

अभी हम सब को ये समझना होगा की , अभी कोरोना गया नहीं हैं, इसलिए आप जब भी बाहर जाए तो संभल कर जाए और मास्क लगाए, sanitize करे , और दो गज की दूरी बनाये। कोरोना से डरना नहीं हैं पर अलर्ट रहना जरुरी हैं। हमेशा दूसरों के अनुभव से सीखे ना की हर चीज का खुद अनुभव ले ।

अभी हाल में ही मेरा बाहर जाना हुआ तो सच मानिये ऐसा लग ही नहीं रहा था की कोरोना है भी , लोगो ने सोशल डिस्टन्सिंग की तो धज्जिया उड़ा रखी थी, जो की समस्या को और ज्यादा बढ़ा सकता हैं । आज हम इतनी करोडो की आबादी वाले देश में हैं जहा एक एक तो समझाना मुश्किल हैं , पर हम सब की ड्यूटी की हैं की हम अपने और अपनों को कोरोना गाइड लाइन्स मानने के लिए बाध्य करे , ऐसा करके हम सभी के जीवन में खुशिया और चेहरे पर मुस्कान ला सकते हैं ।

जब तक मेडिसिन या वैक्सीन ना आये, तब तक अपने आप के लिए खुद सुरक्षा रखे , ये सब करने से हम कोरोना से तो बचेंगे और भी अनेको बिमारियों और समस्याओ से भी बच जाएंगे । अब त्योहारों और शादियों का टाइम आ रहा हैं , ऐसे में हमे लोगो से मिलना- जुलना और उठना- बैठना करना पड़ेगा , इसलिए दो गज की दूरी में रहकर त्यौहार और शादियों का मजा ले ।

इम्युनिटी बूस्टर खाना खाये

जब से कोरोना शुरू हुआ हैं, कही ना कही हम सब अपनी हेल्थ को लेकर बहुत ही अलर्ट हो गए हैं, जो की बहुत अच्छी बात हैं। जैसे आप लम्बे समय से इम्युनिटी को बढ़ाने वाला भोजन कर रहे हैं, अभी आगे भी आपको अपनी इम्युनिटी को बढ़ाते रहना हैं , जिससे हमे कोई भी बीमारी ना आये ।

कोरोना ने हमे ये समझा दिया की health is wealth , वास्तव में अगर कुछ सत्य है तो वह आपकी हेल्थ हैं । इम्युनिटी बूस्टर खाना खाये। अपने भोजन में सब्जियों, फल और सलाद की मात्रा ज्यादा रखे । नियमित संतुलित आहार खाये।

मेरे द्वारा रचित कविता

कोरोना ने हमे घर में रहना सीखा दिया ।

गरीब और अमीर का दायरा मिटा दिया ।

जो कहते थे खरीद लेंगे हर खुशी पैसो से ।

इस कोरोना ने उन्हें जीना सीखा दिया ।

कोरोना सन्देश

आज जिस कोरोना से घबरातें हो तुम।

कल ये कोरोना तुमसे घबराएगा ।

वह दिन दूर नहीं साथियो ।

जब कोई वैक्सीन इसकी लाएगा । 

कोरोना अभी भी हैं इसलिए भीड़ भाड़ वाली जगह पर जाने से बचे

कोरोना अभी भी हैं इसलिए भीड़ भाड़ वाली जगह पर जाने से बचे

कोरोना लगातार बढ़ता जा रहा हैं, इसलिए पूरी जागरूकता और सतर्कता से चले। ये ना सोचे की सब सही हो गया हैं, अभी भी सिचुएशन ठीक नहीं हैं , इसलिए अपने और अपनों का पूरा ध्यान रखे । मौसम बदल रहा हैं, ठण्ड के मौसम में कोरोना एक घातक रूप ले सकता हैं , इसलिए मौसम के हिसाब से काम करें और ज्यादा से ज्यादा घर में ही रहने का प्रयास करें ।

Share This :