वन बहुत से संघर्षो से भरा हैं ऐसे में How to avoid negative thoughts एक बहुत बड़ा सोचनीय विषय हैं । विचार अच्छे और बुरे दोनों होते  हैं , अच्छे विचार आपके मन को शांत रखेंगे और बुरे विचार आपके मन में एक अजीब से उथल – पुथल मचा देंगे । आपके मन हजार पॉजिटिव थॉट्स हैं पर एक छोटा सा negative thoughts भी आपकी लाइफ को संकट में डाल सकता हैं , इसलिए हमें अपने विचारो को हमेशा स्वच्छ रखना हैं जिससे हम अपनी लाइफ को बेहतर बना सके।

मानव शरीर में मस्तिक की एक अहम् भूमिका हैं, और इसका स्वस्थ होना बहुत आवश्यक हैं ।  हमारे दिमाग में negative thoughts और पॉजिटिव थॉट्स दोनों होते हैं , लेकिन अगर negative thoughts की बढ़ोतरी बहुत अधिक हो जाए , तो हमारी तबियत ख़राब हो सकती हैं ।

How to Avoid Negative Thoughts
How to Avoid Negative Thoughts

मन में Negative Thoughts के कारण हो सकते हैं

लाइफ में बार – बार fail होना

जब कभी भी हम लाइफ के किसी क्षेत्र में असफल हो जाते हैं तो हमारा मन दुखी हो जाता हैं और धीरे – धीरे ये दुःख negative thoughts में बदल जाते हैं, हम अपने आप की क़ाबलियत पर शक करने लगते हैं, हम अपने आप से दुखी हो जाते हैं, मेरी किस्मत ख़राब हैं , मेरा पास कुछ नहीं, मेरे लिए कोई नहीं हैं और ना जाने कितने अनगिनत विचारों से मन भर जाता हैं , और कभी – कभी तो ये विचार इतना ज्यादा भयानक रूप ले लेते हैं जिसे संभालना बहुत मुश्किल होता हैं।

अकेलापन महसूस करना

negative thoughts आप पर तब अटैक करते हैं जब आपको लगता हैं की आप दुनिया में बिलकुल अकेले हैं, आपको अपने आस – पास एक भी ऐसा व्यक्ति नहीं दिखता जिससे आप अपने मन की बात कह सके , जिससे अपना दुःख शेयर कर सके , जिसके कंधे पर सर रख कर रो सके । सबकी लाइफ में negative thoughts होते हैं, पर वह अटैक ऐसे लोगो पर करते हैं जो मानसिक और शारीरिक रूप से बिलकुल अकेले हैं ।

अपने मन से negative thoughts को कैसे हटाए

मन के हारे हार हैं और मन के जीते जीत , मतलब मानव दुनिया का सबसे सर्वोच्च प्राणी हैं जिसके पास दिमाग हैं , जो अपना अच्छा और बुरा समझ सकता हैं, ऐसे में क्या हम negative thoughts को पॉजिटिव नहीं कर सकते हैं, या वह हम अपनी सोच को कैसे बदल दे , या हम ऐसा क्या करे जिससे हमारे negative thoughts पॉजिटिव हो जाए, इन्ही सब बातों को ध्यान में रखते हुए मैंने कुछ ऐसे बातें ढूढ़ निकाली हैं जिससे आप लाइफ के प्रति और लोगो के प्रति बहुत ही पॉजिटिव हो जाएंगे।

नेगेटिव लोगो से पॉजिटिव बात करें

नेगेटिव बात कोई बाहर वाला नहीं करता हैं , आपके अपने लोग जो आपके सबसे ज्यादा करीब होंगे वो भी नेगेटिव बात करते हैं , तो ऐसे लोगो से हमेशा पॉजिटिव बात करें, हर बात में अच्छी बात ढूढ़े, हर इंसान की अच्छाइया ढूढ़े, हर बुरी बात में भी कुछ ना कुछ अच्छा ढूढ़े , जीवन और लोगो के प्रति अच्छा सोचे । 

जो आपसे जले , जो आपको ना पसंद करें, जो आपकी बुराई करे, जो आपको नीचे दिखाए , ऐसे लोगो को वक़्त पर छोड़ दीजिये , आप सिर्फ अपना और अपने से जुड़े हर व्यक्ति का अच्छा करने की कोशिश करें, ऐसा करने से आप दूसरे की हेल्प नहीं बल्कि अपनी हेल्प करेंगे, आप जितना ज्यादा दूसरों को कष्ट देते हैं उतनी ही परेशानी हमें किसी ना किसी रूप में झेलनी पड़ती हैं , इसलिए आप किसी का दिल ना दुखाये , किसी को जलील ना करें, किसी की परेशानी का कारण ना बने ।  कहते हैं ना की अगर रास्ता ख़राब हो तो रास्ता ना छोड़े बल्कि मजबूत चप्पल पहन ले। 

जब हम किसी नेगेटिव इंसान के थॉट्स को सुनते हैं तो हमे उनका रिप्लाई negative thoughts से ना देकर पॉजिटिव थॉट्स से देना होगा तभी हम इस चेन को ब्रेक कर सकते हैं, वरना ये सिलसिला सदियों तक चलता रहेगा । मंथरा और शकुनी जैसे उदहारण हमारे सामने हैं , जिनके negative thoughts ने ही पूरी रामायण और महाभारत बना दी ।

व्यस्त रहे मस्त रहे

जो लोग ज्यादा खाली हैं , ऐसे लोग जिनके पास कुछ खास करने को नहीं हैं, वह लोग हमेशा किसने क्या कहा , क्यों कहा, कैसे कहा इसी पर विचार करते रहते हैं और जो लोग अपने काम में बिजी है , ऐसे लोग ज्यादातर बातों को इग्नोर कर देते हैं , इसलिए अपने आप को ज्यादा से ज्यादा बिजी रखे , अपनी दिनचर्या ऐसी बनाये जिसमे फालतू बातों के लिए वक़्त ही ना हो । 

Negative thoughts को इग्नोर करें

दुनिया में जरुरी नहीं हैं की हर व्यक्ति आपको पसंद करें, या आप सब को खुश कर पाए, इसलिए ज्यादा ना सोचे और अपने काम से काम रखे ।  सुनी – सुनाई बातों को ना ही सुने और ना ही उन पर विश्वास करे, क्योंकि कभी – कभी आँखों देखी बात और कानो सुनी बात भी गलत हो जाती हैं  ।  नेगेटिव थॉट्स को इग्नोर करें, अपने मन और दिमाग को डाइवर्ट करना सीखे , क्योंकि अगर ऐसे छोटी – छोटी बात पर अगर दुखी , हतास और परेशान होना शुरू कर दिया तो लाइफ का एक भी दिन सही नहीं जाने वाला, क्योंकि कुछ ना कुछ प्रॉब्लम तो हमेशा रहती हैं ।

अच्छे कर्म करें

लाइफ में ये ना देखे और ना इस बात पर जोर दे की सामने वाला क्या कर रहा और कैसे कर रहा हैं , क्योंकि हर इंसान को अपने कर्मो के अनुसार ही लाइफ में सुख और दुःख मिलते हैं इसलिए आप हमेशा अच्छे कर्मो को करिये, दूसरा क्या कर रहा हैं इस बात की फिक्र ना करे ।  जो जैसे बोयेगा वो वैसा ही कटेगा , मतलब आपके द्वारा किये गए अच्छे और बुरे कर्मो के आधार पर ही आपका भविष्य बनेगा या बिगड़ेगा।

हर माहौल में खुश रहे

अपने आस – पास का वातावरण और माहौल हमेशा अच्छा रखे, और खुश रहे ।  खुश रहने से नेगेटिव थॉट्स भी नहीं आएंगे और आप अपनी लाइफ में जो भी करेंगे उसमे सफल भी होंगे ।  जैसा देश वैसा भेषा , इस वाक्य से अपने जीवन को कनेक्ट कर दे और जहा भी जैसे लोग या रहन सहन हो उसमे ढल जाए , क्योंकि जरुरी नहीं जो आपके पास जो आज हैं वह कल भी होगा , मतलब आपका आने वाला कल कैसा होगा ये किसी को भी पता नहीं हैं, तो इसलिए  किसी भी बात का घमंड ना करें , और अपनी जमीन, घर और गांव से हमेशा जुड़े रहे ।

ईश्वर से जुड़े रहिये

ईश्वर में आस्था रखिये और सत्य के रस्ते पर चले । पूजा – पाठ में ध्यान लगाने से भी हम नेगेटिव थॉट्स को अपनी लाइफ से आउट कर सकते हैं ।

Share This :