जीवन में जब कोई भी उद्देश्य या कोई भी छोटा या बड़ा काम अपनी निर्धारित समय पर सही से पूरा नहीं हो पाता हैं तो हम स्ट्रेस में आ जाते हैं । Stress कितने समय तक रहेगा ये पूरी तरह आपकी सोच पर निर्भर करता हैं । ये बात भी बिलकुल सच हैं की स्ट्रेस को हम पूरी तरह से जिंदगी से नहीं ख़तम कर सकते हैं , आप एक Stress को ख़तम करेंगे दूसरा आ जाएगा , जीवन ऐसे ही चलता हैं अब सबसे important question आता हैं की how to avoid stress or how to ignore stress.

How to avoid stress?

तनाव क्या है ? What is stress ?

आजकल शायद ही ऐसा कोई इंसान हो जिसे तनाव ना हो, कोई न कोई reason सबके पास हैं। किसी को पैसे की कमी, किसी को प्यार की कमी, किसी को विश्वास की कमी, किसी को समय की कमी, किसी को मनोरंजन की कमी, किसी को दोस्तों की कमी, मतलब सबके जीवन में ही तनाव है ।

कभी कभी प्रॉब्लम उतनी बड़ी नहीं होती जितना की हम सोच लेते हैं।  अब बात आती है कैसे हम इससे बचे , कैसे हैंडल करे, कैसे दूर रहे, तो आज मैं आपको कुछ इसी बारे में बहुत ही बढ़िया Tips दूँगी जिससे आप काफी फ्रेश महसूस करेंगे, खुश महसूस करेंगे और जीवन की तरफ पॉजिटिव थिंकिंग रखना शुरू कर देंगे ।

तनाव जीवन की वह अवस्था है जब आपकी जीवन से जो एक्सपेक्टेशन (Expectation ) होती है और वह पूरी नहीं होती है तब आप स्ट्रेस फील (Stress feel) करते है ।  

आप बहुत अकेला महसूस करते हैं  ।

 आपको आपकी समस्या का हल नहीं दिखाई देता है  ।

रस्ते धुँधले दिखते, क्या करे और क्या ना करे की स्थित में आ जाते है , और इसकी वजह से आप डिप्रेस हो जाते, आप बहुत सारी मानसिक बीमारियों के शिकार हो जाते हैं।

आप अपने आप को दुनिया का सबसे दुखी इंसान समझने लगते हैं ।

तनाव के लक्षण Symptoms of Stress

नींद ना आना

किसी भी काम में मन ना लगना

लोगो से मिलने का मन ना करना

ज्यादा सोचने लगते है

गुमसुम रहना , मतलब किसी से कोई बात ना करना

अकेले रहना

हँसना या मुस्कराना छोड़ देना

भोजन सही से ना खाना

घूमने जाना avoid करना

अकेले बैठकर सोचते रहना

तनाव को कैसे दूर रहे ? How to overcome stress?

लोगो से मिलना – जुलना रखे

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी हैं वह अकेले नहीं रह सकता हैं । लोगो के बीच में रहकर ही हम उससे जिंदगी का पाठ सीख सकते हैं , इसलिए अकेले ना रहे लोगो से मिलना – जुलना रखे । जितना आप लोगो के साथ मिलेंगे आप अपने stress से overcome कर पाएंगे और पॉजिटिव भी रहेंगे ।

अपने मन की बातें शेयर करें

आपके मन में जो चल रहा है, वह सब अपने क्लोज दोस्त या फॅमिली मेंबर से शेयर करें । जीवन में खुशिया और गम दोनों हैं जिस प्रकार से हम अपनी खुशियों को अपने यार दोस्तों या फिर परिवार के साथ शेयर करते हैं वैसे ही आप अपने दुःख को शेयर कर के अपने मन को हल्का कर सकते हैं , और इसके साथ – साथ आपको समस्या का समाधान भी मिल जाएगा ।

आउटिंग with फ्रेंड्स और फॅमिली

घूमना – फिरना भी जीवन के लिए बहुत जरुरी हैं , इंसान का मन एक जगह और एक ही माहौल में रहकर कही ना कहीं बोर हो जाता हैं इसलिए बाहर घूमने जाए और दोस्तों के साथ समय बिताये ऐसा करें से आप अपने आप को तनाव से दूर रखने में समर्थ होंगे । पार्टी का ऑफर आये तो एक्सेप्ट करें ।

Arrange a पार्टी with फ्रेंड्स

कभी -कभी दोस्तों के साथ एक छोटा सा गेट टुगेदर करे अपनी बातें शेयर करें, डांस करे । पार्टी को अपने अनुसार अर्रंगे करें ।

अपना फेवरेट म्यूजिक सुने

संगीत के बिना तो जीवन में कोई सुर और ना ताल हो सकती हैं । अच्छा म्यूजिक सुनना भी एक तरह के मानसिक थेरेपी हैं । जिससे हम समय – समय पे अपने आप को चार्ज करते हैं , जब भी कुछ ठीक ना लगे आप हल्का सा अपना पसंदीदा म्यूजिक सुने इससे आप अपने तनाव को अवॉयड कर पाएंगे और पहले से बेहतर भी महसूस करेंगे ।

समय से खाना खाएं

अभी नहीं खाना , थोड़ी देर में खाती हूँ, अभी रुको बाद में खाएंगे , इस तरह की बातों से बचे । खाना खाने का समय निर्धारित करें और रोज उसी समय खाये ऐसा करने से आप अपने जीवन को संतुलित और अनुशासित कर पाएंगे ।

नींद से समझौता ना करें

समय से ना सोना भी आज स्ट्रेस होने का मुख्य कारण हैं । जब आपकी नींद पूरी नहीं हो पाएंगे तभी आपको चिड़चिड़ापन भी होगा और किसी भी काम में मन नहीं लगेगा, इसलिए 8 घंटे की नींद जरूर ले ।

सुबह जल्दी उठें

सुबह जल्दी उठे, उठकर बाहर टहलने जाए, सुबह की ठंडी ताज हवा आपको दिन भर चार्ज और खुश भी रखेगी ।

योगा और मेडीटीएशन का नियमित अभ्यास करें

योगा और मैडिटेशन आज जीवन के लिए एक औषधि के जैसे हैं अगर आप रोज योगा करते है तो आपका शरीर और मन दोनों फिट रहेंगे । शारीरक रूप से फिट रहना जीवन के लिए बहुत जरुरी हैं ।

ज्यादा ना सोचे

दिन – रात जब तक जागेंगे तब तक सोचते रहना , कुछ न कुछ , किसी ना किसी के बारे में या कोई भी बात आपको अंदर ही अंदर परेशान करती रहती हैं इसका मूल कारण यह हैं की आप अपनी बात को किसी से भी कहने में comfortable नहीं हैं । सबसे पहले अपनी बातों को शेयर करना सीखे , आप ही अकेले उस स्थित के जिम्मेदार हैं ऐसा सोचे । अपने मन को अलग – अलग कार्यों में व्यस्त रखे ।

दुनिया में सिर्फ प्रॉब्लम आपके साथ है इस सोच को ख़तम करें

आप अकेले नहीं हैं इस दुनिया में तो तनाव से ग्रसित हैं । हर दूसरा इंसान इस समस्या से जूझ रहा हैं । तनाव आपसे हैं ना की आप तनाव से, कहने का मतलब साफ़ हैं की पहले आप अपना ख्याल रखो बाद में किसी और का । एक बार मुस्करा कर देखो सब ठीक हो जाएगा । जीवन में ऐसी कोई समस्या नहीं हैं जिसका आप के पास हल ना हो ।

मोटिवेशनल बुक्स पढ़े

किताबों से दोस्ती करों , अच्छी – अच्छी प्रेरणा दायक किताबें पढ़े । जीवन की सच्ची कहानियाँ पढ़े और उनके साथ अपने आप को जोड़े और समझने की कोशिश करें कैसे अपनी जीवन को और बेहतर कर सकते हैं । कोई भी समस्या इतनी बड़ी नहीं जिसका की हल ना हो , ये सोच लाएं 

My Message – जीवन में कितनी भी समस्याएं आये आप घबराना नहीं बल्कि डट कर उसका सामना करना, आपकी जीवन से ज्यादा दुनिया में कोई भी चीज मूल्यवान नहीं । आप अपने अपनों के लिए कितना जरुरी हो ये हमेशा याद रखना, हमेशा दिन एक जैसा नहीं रहता हैं, वक़्त सबका बदलता है , आपको तो बस उस तनाव की स्तिथि में सिर्फ धैर्य की डोरी को पकडे रहना हैं, जब कुछ ना समझ आया , सारे रस्ते बंद दिखे तब हमें सबकुछ भगवन पे छोड़ कर सही समय होने का इंतज़ार करना चाहिए, जब नदी का बहाव बहुत तेज़ हो तब कही किनारे -किनारे चलना ही बुद्धिमानी हैं।

end of stress

Share This :