How to become a good Writer, यदि आप एक बहुत ही अच्छे Writer बनना चाहते हैं, तो मैं आपके लिए कुछ अद्भुत टिप्स लेकर आयी हूँ जो आपके इस सफर में आपकी बहुत हेल्प करेंगी। आज देखा जाए हर व्यक्ति विचारों से भरा हुआ हैं, क्योंकि वह अपनी बात को लोगो से शेयर नहीं कर पा रहा हैं इसलिए लिखना सबके लिए ही एक औषोधी के जैसा भी हैं।

जब आप अपने मन की बात को लिख देते हैं तो उस समय आपको बहुत शांति मिलती हैं और ये तरीका ठीक भी हैं कही ना कही आप अपने दिल की हर बात को सबसे कह नहीं सकते है।

यदि आप किसी से कोई बात डायरेक्ट कहेंगे तो वह व्यक्ति बुरा मान जाएगा लेकिन उसी बात को जब कोई बुक के माध्यम से पढता हैं तो वह व्यक्ति उस बात का बुरा नहीं मानता हैं। तो देखा जाए कही ना कही आपके द्वारा बताई बातों को पढ़कर कैसे लोग अपने जीवन में और अपने स्वाभाव में परिवर्तन कर सकते हैं।

किसी भी टॉपिक पे लिखकर आप लोगो से सीधे कनेक्ट हो जाते हैं जो समस्या या फीलिंग्स आज आपके दिल में हैं, आपके जैसे ही लाखों -करोङो लोग इस दुनिया में हैं, जो आपके लेख को पढ़कर ही खुश हो जाएंगे और आंतरिक शांति को महसूस करेंगे।

नीचे बताई गयी टिप्स को फॉलो करे –

How to become a good Writer
How to become a good Writer

हर दिन लिखने की आदत बनाये

आप हर दिन किसी ना किसी टॉपिक के बारे में लिखने की आदत को डेवेलोप करे जिससे आपके अंदर नए -ने विचार और नए -नए लिखने के तरीके आएंगे। लिखने के लिए विचारों का होना बहुत जरुरी हैं। जब आप लिखना शुरू करेंगे तो इससे आपकी लिखने की स्पीड तो बढ़ेगी इसके साथ -साथ आप अलग -अलग टॉपिक्स को आसानी से कवर कर पाएंगे।

यदि आप किसी एक ही टॉपिक से रिलेटेड कुछ लिखना चाहते हैं वह चाहे फिर लेख हो, कहानी हो, कविता हो, या फिर कोई बुक हो, तो आप उस टॉपिक को पूरी तरह से समझकर लिखना स्टार्ट कर सकते हैं। इंसान की सोच बदलती रहती हैं इसलिए धीरे धीरे लिखे और सटीक लिखे और जब आपका टॉपिक पूरा हो जाए तभी आप उसे दुनिया के सामने लाये।

जो लोग लिखने के शौक़ीन होते हैं वह लोग बहुत ज्यादा विचारों से भरे होते हैं पर आज कोई भी लिख सकता हैं बस उसे उस टॉपिक के बारे में जिस पर वह कुछ लिखना चाहता हैं उसके बारे में सही ज्ञान होना चाहिए। बाहरी ज्ञान के साथ -साथ आपको अपनी लेखनी में अपने विचारों को भी रखना होता हैं तभी आप good writer कहलायेंगे।

एक good Writer वह सब पहले से देख और समझ सकता हैं जो आसानी से लोग नहीं समझ पाते हैं। जो किसी भी स्थान को देखकर कुछ ना कुछ लिख दे, जो किसी भी सिचुएशन को इतने अच्छे दे डिफाइन कर दे की हर एक आम आदमी को समझ में आ जाए।

हर दिन पढ़ने की आदत बनाये

यदि आप good writer बनना चाहते हैं तो इस सफर को आपको बचपन से स्टार्ट कर देना चाहिए और जितना ज्यादा आप अपनी रूचि के अनुसार बुक्स पढ़ सकते हैं, जितना ज्यादा आप रिसर्च कर सकते हैं , जितना ज्यादा आप ज्ञान ले सकते हैं, जितना ज्यादा आप अपने सोचने की स्किल को डेवेलोप कर सकते हैं उतना ही आपके लिए लिखना आसान होगा।

एक good writer बनने के लिए आपको अपने थॉट प्रोसेस (thought process) पर काम करना होगा, एक writer हमेशा सच और दुनिया के हित में ही लिखने को प्रमोट करता हैं। प्रतिदिन कुछ ना कुछ पढ़े आपकी शब्दावली जितनी ज्यादा स्ट्रांग होंगी आपके पास रचना करने के लिए उतने ही ज्यादा वाक्य होंगे। बुक्स पढ़ना एक बहुत ही अच्छी आदत हैं जिसे हम सब को फॉलो करना चाहिए।

शांत मन से किसी भी टॉपिक पर खुद की राय जरूर रखे

अपने मन को सदैव शांत रखे, और जब लिखना शुरू करे तो उससे पहले ही जिस टॉपिक के बारे में लिखना चाहते हैं उसके बारे में आप क्या सोचते हैं, आप क्या फील करते हैं, उस पर पहले से ही विचार कर ले और जो भी लिखे उसे पूरी जिम्मेदारी से लिखे क्योंकि आपके द्वारा लिखा गया एक -एक शब्द भी कईयों की जिंदगी में भारी प्रभाव डाल सकता हैं।

जब आप अंदर से अच्छा फील करे, आपका मन शांत हो तभी लिखे क्योंकि जिससे आप लोगो तक सही बात पंहुचा पाए। जिंदगी में सुख दुःख, खट्टा मीठा, सब कुछ हैं पर एक writer की सदैव कोशिश यही होती हैं की वह हर किसी को मोटीवेट करे और सबको जीने की सही राह दिखाए।

अपने मष्तिस्क को स्वस्थ रखे

नकारात्मक माहौल और लोगो दोनों लोगो से दूर रहिये, ऐसे लोग ना ही कुछ करते हैं और ना किसी को कुछ करने देते हैं। मन स्वस्थ होगा, तभी विचार अच्छे आएंगे और जब विचार अच्छे आएंगे तो आप जो भी लिखेंगे वह सब सोना हो जाएगा जिसे पढ़ने के बाद हर कोई अच्छा फील करेगा।

खूब खुश रहिये, और जिंदगी को समझिये, लोगो को समझिये फिर लिखना शुरू कीजिये क्योंकि आपकी लेखनी में आपकी ही झलक दिखाई देगी की आप कितना अच्छा सोच पा रहे हैं और अपनी ऑडियंस तक अपनी बात को कितने प्रतिशत तक पंहुचा पा रहे हैं।

ऐसा लिखे जिसको पढ़ने के बाद लोग सीधे लोग आपसे कनेक्ट हो जाए, पढ़ने वाले को ऐसा प्रतीत हो जैसे वह सीधे writer के साथ आमने – सामने बैठकर ही बात कर रहा हैं।

एक नोट बुक एंड पेन सदैव अपने साथ रखे

समय से भी ज्यादा जिसकी स्पीड होती हैं, वह हैं ‘विचार’ जो एक पल में आते हैं और फिर चले जाते हैं, इसलिए एक नोटबुक एंड पेन को सदैव अपने आस -पास रखे, क्योंकि जैसे ही कोई अच्छी सोच या विचार आये, आप उसे नोट कर ले और जब विस्तार से लिखे तो उसमे उन बातों को ऐड कर दे इससे आप और भी अच्छा लिखने में समर्थ होंगे।

एक संतुलित दिनचर्या बनाये

जिंदगी को भागम भाग मत बनाइये, जिंदगी में थोड़ा ठहराव रखे, और एक ऐसी दिनचर्या बनाये जिसमे आपके पास आपके लिए समय हो। विचार तभी आएंगे जब आप अकेले बैठकर कुछ चिंतन करेंगे , यदि आप सुबह से शाम तक दुनिया दारी में ही अपना सारा समय लगाते रहेंगे तो आप कही ना कही सदैव विचलित रहेंगे।

जब हम अपने विचारों को कही लिख देते हैं तो हमारा मन भी शांत हो जाता हैं हमे ऐसा प्रतीत होता हैं जैसे अपने मन की बात किसी से शेयर कर ली हो।

जो भी लिखे उस पर पूरा रिसर्च करके लिखे

जो भी लिखे उसे पूरा लिखे , आधा – अधूरा ज्ञान सदैव कष्टकारी होता हैं। लिखने से पहले ही आप अपने लेवल का सारा रिसर्च कर ले जिससे आपको लिखने में आसानी तो होगी ही , और आप अच्छा भी लिख पाएंगे। जब तक आप किसी भी बात के बारे में निश्चिंत ना हो, तब तक उस टॉपिक के बारे में कुछ ना लिखे।

अलग -अलग टॉपिक पे लिखे

अलग -अलग टॉपिक्स के बारे में पढ़िए और फिर उन टॉपिक्स के बारे में लिखने की हैबिट को एक्स्प्लोर करिये जिससे आप धीरे -धीर और ज्यादा अच्छा लिखने लगेंगे। छोटे -छोटे पैरा, कुछ छोटी – छोटी कहानियां और मोटिवेशनल लाइन्स लिखना शुरू करिये और उसके बाद आपके मन में खुद से ही अच्छे अच्छे विचार आने लगेंगे।

अपने मन के हिसाब से लिखे

जब विचार आये तभी लिखना शुरू कर दे जिस पल भी आपको लिखने का मन करे आप लिखना शुरू कर दे क्योंकि विचार आना एक नेचुरल प्रोसेस हैं। कोई भी व्यक्ति उसी समय लिख सकता हैं जब वह खुद कुछ लिखना चाहे ना की किसी के कहने पर।

Keep Writing……

Share This :