घर एक ऐसी जगह हैं जहा हर व्यक्ति को सुकून और आराम चाहिए होता हैं ऐसे में How to create a happy environment at home ( घर में खुशहाल वातावरण कैसे बनाएं ) इस पर विचार करना बनता हैं क्योंकि ये हर व्यक्ति का ख्वाइश होती हैं की जब शाम को घर में थका -हारा आये तो उसे एक अच्छा माहौल मिले, एक खुशनुमा माहौल मिले, मन की शांति मिले जिसमे रहकर वह अपने सारे दुःख और दर्द को भूल जाए।

घर के माहौल को अच्छा करना वैसे तो सबकी जिम्मेदारी होती हैं फिर भी इसमें महिलाये ज्यादा कंट्रीब्यूशन कर पाती हैं क्योंकि मकान को घर तो एक महिला ही बनाती हैं और सोच के देखिये जब कभी दो दिन के लिए आप घर से बाहर चली जाती हैं तो आपके घर का क्या हाल होता हैं।

घर के माहौल को अच्छा बनाने के लिए व्यक्ति का स्वाभाव, रहन -सहन, बोली-चाली सब कुछ मायने रखता हैं और आप अपने घर को कितने अच्छे से रख पा रही हैं ये बिलकुल आप पर ही निर्भर करता हैं।

How to create a happy environment at home
How to create happy environment at home

Tips to create happy environment at home

अपना बिस्तर सदैव बनाएं रखे

एक बात तो ये सच हैं की कभी कभी गुस्सा आप किसी और के कारण होते हैं और आपका गुस्सा कही और निकल जाता हैं जैसे आप ऑफिस से बॉस की डांट को पहले से सुन कर आये हैं और जब आप शाम को थके -हारे परेशान घर आये तो अपने अपने बैडरूम को पूरी तरह से अव्यवस्थित देखा तो ऐसे में ऑफिस का गुस्सा आप अपनी वाइफ या घर के अन्य लोगो पर निकालेंगे और यदि इसका उल्टा होता आप ऑफिस से तो परेशान हैं पर जब आप घर में अपने बैडरूम में जाते तो आपको सबकुछ परफेक्ट दिखता तो शायद आप अपने ऑफिस के गुस्से को मैनेज कर लेते। हर बात कही ना कही किसी बात का कारण होता हैं।

बिना रीज़न के माहौल कभी ख़राब नहीं होता हैं बस आपको पहले से स्मार्टली चीजों को समझना हैं और उसके अकॉर्डिंग एक्ट करना हैं जिससे आपके घर का माहौल हमेशा शांत रहे।

बर्तन का ढेर इकठ्ठा ना होने दे

ध्यान रखे की आपकी किचन में बर्तनो का ढेर ना लगा हो, थोड़े -थोड़े बर्तनो को साफ़ करते रहिये और यदि maid करती हो तो बर्तन को एक अलग जगह पर लगा दे , किचन हमेशा साफ़ सुथरा रखे जिससे यदि आप घर में नहीं भी हैं तो भी आपके अन्य घरवाले चाय या कुछ और बना सके। यदि आप घर में नहीं हैं और किचन पहले से ही बहुत गन्दा और अव्यवस्थित हैं तो उसमे कोई भी घुसने की हिम्मत नहीं करेगा और भूंखे पेट क्या होगा आपको भी पता हैं।

घर साफ़ -सुथरा रखे

घर जितना साफ़ -सुथरा होगा, आपके घर का माहौल भी उतना अच्छा होगा क्योंकि जब घर साफ़ होगा तो आपके मन में भी विचार पॉजिटिव आएंगे और घर के और सदस्य भी कूल रहेंगे क्योंकि वास्तव में गन्दगी तो किसी को भी पसंद नहीं होती हैं फिर चाहे सफाई कोई करे या ना करे, इसलिए अपने घर की सफाई पर सदैव ध्यान रखे, दीवारों , पंखो और वाशरूम को हमेशा चमका के रखे जिससे आपके घर में सदैव एक अच्छा माहौल बना रहेगा।

चीजे व्यवस्थित रखे

अपने काम को ज्यादा बढाईये मत, इसलिए सब सदस्यों को अपनी चीजे व्यवस्थित रखनी चाहिए जिससे समय पड़ने पर आप उनको आसानी से पा सके और आपका समय और एनर्जी दोनों बच जाए। कभी -कभी लोग किसी भी चीज को रख कर भूल जाते है और जब जरुरत पड़ने पर वह चीज नहीं मिलती हैं या देर से मिलती हैं तो इसके लिए भी लोग एक दूसरे को सुनाने लगते हैं , ये छोटी -छोटी बातें कभी -कभी बड़ी समस्या बन जाती हैं और इससे आपके घर का माहौल ख़राब हो जाता हैं।

सबके काम बांटें

यदि घर की सारी जिम्मेदारी किसी एक ही व्यक्ति पर होंगी तो वह व्यक्ति काम तो करेगा पर सदैव कहता रहेगा की मैंने ये किया , वह किया इत्यादि इससे क्या होगा आपके घर का माहौल ख़राब होगा और आपका मूड भी ख़राब हो जाएगा इसलिए ध्यान रखिये की घर के काम हो या बाहर के काम को उसे इस तरह से बांटें की किसी पर भी ज्यादा भार ना पड़े और जब सब खुश रहेंगे तो घर का माहौल अपने आप ही अच्छा हो जाएगा।

सबके काम की सराहना करे

आपस में छोटी -छोटी चीजों के लिए प्रशंसा करे जिससे आपके घर में एक खुशनुमा माहौल बना रहेगा। प्रशंशा सुंनना आज सबको पसंद होता हैं और जब कोई व्यक्ति किसी काम को करता हैं तो उसके बदले में थोड़ी तारीफ करने में कोई हर्ज नहीं हैं।

घरवालों से प्यार और आदर से बात करे

अपनी जुबान को सोच समझ कर ही चलाये, बिना वजह किसी के मुँह ना लगे, ऐसी कोई बात किसी को ना कहे, जो आप अपने लिए ना सुन पाए , किसी का दिल ना दुखाये, किसी के लिए गलत और गंदे शब्दों का प्रयोग ना करे , यदि आप इन सब बातों को फॉलो करेंगे तो आपके घर का माहौल बहुत अच्छा हो जाएगा और आप वास्तविक सुकून फील कर पाएंगे।

अपनी समस्या को सबसे साझा करे

यदि आप परेशानी में हैं, तो उसे सबसे शेयर करिये, घरवाले सिर्फ सुख भोगने के लिए नहीं होते हैं जब परेशानी आये तो उनसे अपने दुःख को बताकर सबसे पहले तो अपने मन को हल्का करे उसके बात सब मिलजुल कर समस्या का निदान ढूढ़े। जब एक दूसरे के केयर होगी , प्यार होगा, आदर होगा तभी तो घर में हर कोई सुकून फील कर पायेगा और जब सब अच्छा फील करेंगे तो ऑटोमेटिकली आपके घर का माहौल अच्छा होता चला जाएगा।

अपने घर में पॉजिटिव माहौल बनाये

खुश रहिये, सदैव मुस्करा कर सबसे बात करिये यदि कोई गलती करे तो उसे समझाइये ना की उसपर चिलाइये। अपने घर में सदैव सकारात्मक माहौल बनाये , सबके लिए अच्छा फील करे और यदि कोई बात आ भी जाए तो उसे डिसकस करके सुलझा ले , बात को ज्यादा कभी बढ़ने ना दे।

तस्वीरों से दीवारे सजाएं

अपने घर की दीवारों को सुन्दर-सुन्दर पॉजिटिव तस्वीरों से सजाये जिनको देखने का बाद किसी का भी मूड अच्छा हो जाए।

घर के मंदिर में लाइट दिन में जरूर जलने दे

आपने कभी फील किया हैं की मंदिर में जाकर कितना सुकून मिलता हैं, ऐसे ही जब हम अपने घर में मंदिर के सामने बैठते हैं तो कितना सुकून और आराम मिलता हैं इसलिए अपने घर के मंदिर को सदैव साफ़ सुथरा रखे, और दिन के समय अपने घर के मंदिर की लाइट ना बंद करे।

सिर्फ अच्छाइयों पर चर्चा करे

किसी भी व्यक्ति की बुराई करने में अपना समय ना गवाएं, जब भी बात करे तो किस में क्या अच्छाई हैं इस पर बात करे क्योंकि जब कभी भी किसी की बुराई करेंगे तो आपके घर में भी नेगेटिव रेज़ आ जाएंगी। हर व्यक्ति में अच्छाई और बुराई दोनों होती हैं पर आपको सिर्फ अच्छा ही सोचना हैं।

मुस्कराते रहिये

मुँह बनाकर ना रखे, खुश रहिये, और छोटी -मोटी बातों को इग्नोर करिये नहीं तो जिंदगी में सदैव परेशान ही रहेंगे।

तू तू मैं मैं से बचे

बिना वजह बहस से बचे और यदि किसी बात पर कुछ बहस हो जाए तो तुरंत वहा से हट जाए या चुप हो जाए , उस बात को वही ख़तम या बंद कर दे, धैर्य के साथ काम ले क्योंकि जरा सी बात कभी -कभी महीनो तक का माहौल ख़राब कर देती हैं।

Share This :