जिंदगी में जितने रंग हैं, जितनी खुशिया हैं, उससे कही ज्यादा प्रेशर एंड स्ट्रेस भी हैं । How to deal Pressure and Stress, जैसा की हम सब को पता हैं की वक़्त कभी हमेशा एक साथ नहीं रहता हैं कभी सुख तो कभी दुःख हैं। आज हर कोई अपने हिसाब से प्रेशर और स्ट्रेस दोनों को मैनेज कर रहा हैं।

जब किसी काम का प्रेशर ज्यादा बढ़ जाता हैं तो स्ट्रेस भी बढ़ जाता हैं। जब तक आप अपने हिसाब से काम को मैनेज करना नहीं सीखेंगे तब तक आप हमेशा प्रेशर और स्ट्रेस को फील करते रहेंगे।

आप की जिंदगी में बहुत बार ऐसा होगा जब आपके पास कोई और ऑप्शन नहीं होगा और उस समय ही हम सबसे ज्यादा प्रेशर महसूस करते हैं।

How to deal Pressure and Stress

Tips to deal pressure and stress

एक सही रूप रेखा बनाइये , अपने समय और अपने काम को सही भाग में विभाजित करे और रेगुलर उस काम को पूरा करे क्योंकि यदि आपने आज का काम कल पर छोड़ा तो एक दिन प्रेशर और स्ट्रेस दोनों आने ही हैं और उस समय आप सिचुएशन को सही से हैंडल करने के योग्य नहीं होंगे।

हमेशा ध्यान रखे यदि आप अपने वर्तमान में भविष्य की तैयारी कर लेंगे तो आपको कभी भी प्रेशर और स्ट्रेस नहीं आएगा। किसी भी काम को करने से पहले शुरवाती दिनों में थोड़ा प्रेशर और स्ट्रेस दोनों आता हैं लेकिन फिर धीरे -धीरे आप उस काम के आदी हो जाते हैं और वही काम आपके लिए आसान हो जाता हैं।

सब कुछ हमारे मन से होता हैं यदि आप पहले से ही किसी काम को रो -रो कर करेंगे तो उससे ना ही आपका काम अच्छा होगा और ना ही वह काम सही से पूरा होगा।

प्रेशर और स्ट्रेस कोई भी व्यक्ति लेना नहीं चाहता हैं पर आपकी करंट सिचुएशन ही प्रेशर और स्ट्रेस को लेने के लिए मजबूर करती हैं। एक बात ये भी हैं की बिना प्रेशर के भी कोई काम नहीं होता हैं। आज काम कोई नहीं करना चाहता हैं और जब अचानक उस पर काम पड़ता हैं तो वह बौखला जाता हैं।

पहले तो अपनी सिचुएशन को अच्छे से देखे की क्या वास्तव में प्रेशर और स्ट्रेस हैं या फिर आप यूं ही परेशान हो रहे हैं। कभी -कभी सिचुएशन उतनी ख़राब नहीं होती हैं जितनी की हम सोच लेते हैं।

किसी भी काम या बात के लिए बार -बार अपने आप को या किसी अन्य व्यक्ति को कोसना भी आपको नेगेटिविटी की तरफ ले जाएगा। जब भी हम कभी बार -बार नेगेटिव बात करते हैं तो हम अपने सामने वैसा ही माहौल बना लेते हैं।

आज आप अपनी जरुरत के हिसाब से काम करे , ना की काम से हिसाब से जरुरत को बनाये। बिना सोचे विचारे ना ही कोई बात बोले और ना ही कोई निर्णय ले। जब जिंदगी में प्रेशर और स्ट्रेस बढ़ता हैं तो कभी -कभी इंसान कुछ करना ही नहीं चाहता हैं , वह सोचता हैं ये छोड़ कर कुछ और काम करता हूँ पर किसी एक काम को छोड़कर आप दूसरे काम में सफल होंगे इस बात की कोई गॅरंटी नहीं हैं।

जिंदगी में हम सब जो कर रहे हैं वह अपने लिए कर रहे हैं इसलिए कभी भी अपने आप को दुखी मत करना। जिंदगी में बेशक आप बहुत ही होशियार हैं लेकिन जब तक आपके पास सफलता नहीं होंगी लोग आप पर भरोसा नहीं करेंगे।

हमेशा पॉजिटिव सोचो , जिंदगी एक दिन अपने आप सही हो जाएंगी। आज ऐसा कोई भी काम या ऐसी कोई भी जगह नहीं हैं जहा प्रेशर और स्ट्रेस ना हो , फिर चाहे जॉब हो या बिज़नेस हो, या फिर कुछ और हो। जिंदगी में सब कुछ हमारे अकॉर्डिंग नहीं होगा , यदि आप अपने अकॉर्डिंग जिंदगी को चलाना चाहते हैं तो खुद के बॉस बनिए और जिंदगी में खूब पैसा कमाइए।

अपनी वर्तमान स्थित के अकॉर्डिंग ही जिंदगी में बड़े और नए फैसले ले , क्योंकि बिना सोचे कुछ भी करने से अच्छा हैं की पूरी प्लानिंग से करे जिससे आपको दुःख भी नहीं होगा और आप दूसरे काम में भी अपना पूरा मन लगा पाएंगे।

बस थोड़ा सा सब्र रख ! ऐ जिंदगी , सब ठीक हो जाएगा पर उतना ही सहना जितना आप मैनेज कर सको, ऐसा ना हो की आप प्रेशर और स्ट्रेस को डील ना कर पाए बल्कि प्रेशर और स्ट्रेस आपको डील कर ले।

अपने आप पर पूरा विश्वास रखो, की मैं सब कुछ ठीक कर सकता हूँ, मैं सब कुछ ठीक कर लूँगा , अभी तक जिंदगी में जितनी भी समस्याएं आये हैं उनको भी तो मैं ही ठीक किया हैं।

किसी भी परेशानी को अपने ऊपर हावी ना होने दे, जब आपसे मैनेज ना हो तो उसे वही छोड़ दो। अपने आप को सबसे ज्यादा प्यार करे और ध्यान रखे क्योंकि जब आप जिन्दा और सही रहेंगे तभी आप अपने अपनों का ख्याल रख पाएंगे।

अपना काम पूरे मन से करे, क्योंकि आपकी एक गलती आपको बहुत बड़ी मुसीबत में डाल सकती हैं।
खुश रहिये, बिंदास जियो, खिलखिलाकर हसिए, दूसरों की लिए मिसाल बनिए।

Share This :