एक मरीज जो की अपने मन और शरीर से पहले से ही बहुत परेशान हैं , ऐसे में  सवाल आता हैं की (how to deal with a patient ) एक मरीज के साथ कैसा व्यवहार करें । एक मरीज को जितनी दवाईओं की जरुरत होती हैं, उतनी ही उसकी सही देखभाल और उससे किये गए अच्छे व्यवहार की होती हैं । 

Dealing with a patient is not easy job, कुछ पल जिंदगी में ऐसे आते हैं जिसमे बड़े से बड़े  पक्के मन वाला इंसान भी टूट जाता हैं, घबरा जाता है, सहम जाता है, डर जाता हैं , उन्ही पलों में से एक पल हैं जब आपका अपना कोई बीमार होता हैं , तब ना जाने कितने बुरे खयालो से होकर आपका मन गुजरता हैं, ऐसे नाजुक समय में बस अपने दिल पर हाथ रखकर भगवान् का नाम लेते हुए धीरे – धीरे आगे चलते रहो, बस यही जिंदगी हैं । एक मरीज के साथ किया गया अच्छा व्यवहार उसे जल्दी ठीक कर सकता हैं ।  एक मरीज जो जिंदगी के लिए जूझ रहा हैं , उसके सामने हमेशा  अच्छे से पेश आये ।

How to deal with a Patient
How to deal with a Patient

एक मरीज के सामने किन – किन बातों का ध्यान रखे

  1. मरीज के सामने मरीज की बीमारी को डिसकस ना करे ।
  2. मरीज के ऊपर चिल्लाये नहीं , अगर आपको कोई बात बतानी हैं या समझानी हैं तो आराम से बैठकर बात करें, क्योंकि मरीज की शारीरिक और मानसिक हालत ठीक नहीं होती हैं ।
  3. मरीज को समय – समय पर मोटीवेट करते रहे, कभी – कभी मरीज भी हताश होकर जीने की चाह छोड़ सकता हैं, इसलिए उसे बताये की सबके लिए कितना जरुरी हैं।
  4. एक मरीज की एक छोटे से बच्चे की तरह देखभाल करे, ये ना सोचे की ये बड़े हैं तो ये अपना ध्यान खुद रख लेंगे,  आप उन्हें मेडिसिन दे, समय से खाना दे, और उन्हें क्या चाहिए , ये भी पूछे ।
  5. मरीज से थोड़ी – थोड़ी देर मे उसका  हाल चाल पूछते रहे, उसे किसी चीज की जरुरत तो नहीं , ऐसा पूछे, वह कैसा फील कर रहा हैं, इस पर बात करे।
  6. मरीज से समय – समय पर कहे, की जो भी प्रॉब्लम हैं उसे खुल कर डॉक्टर से बताओ , जिससे मरीज का इलाज जल्दी और बेहतर हो सके ।
  7. मरीज ने क्या गलतिया की हैं, इस पर डिसकस ना करे, जब आपका मरीज ठीक होकर घर आ जाए या पूरी तरह से ठीक हो जाए तभी उससे इस बारे में बात करें ।
  8. मरीज के सामने कभी भी नेगेटिव बात न करे, उसे अलग – अलग कहानिया सुनाकर डराए ना बल्कि उसे जल्दी ठीक हो जाएगा , ऐसा विश्वास दिलाये ।
  9. आपके आस – पास अगर कोई भी मरीज हैं, तो बोलने से पहले एक बार जरूर देखे ।
  10. घर में अगर एक रोगी होता हैं तो उसके साथ रहने वाला हर व्यक्ति कही ना कहीं अपने आप को बीमार महसूस करने लगता हैं, ऐसे में धैर्य से काम ले ।
  11. मरीज से जुडी हुयी चीजों जैसे मेडिकल पेपर्स, मेडिसिन और खाना कोई भी एक व्यक्ति ही हैंडल करे, जिससे की डॉक्टर से बात करने में आसानी होगी ।  इन चीजों के लिए आप डायरी में नोट्स भी बना सकते हैं, जिसमे आप मरीज से रिलेटेड इम्प्रूवमेंट को लिख सकते हैं।
  12. बीमार व्यक्ति कभी भी अपने आप की केयर नहीं करेंगा इसलिए घर के लोगो को इनिशिएटिव लेना चाहिए, कभी – कभी लोग कहते रहते हैं जाओ डॉक्टर को दिखा लो , ऐसा कहने से कोई भी बीमार व्यक्ति डॉक्टर के पास नहीं जाएगा , इसलिए आप अपने मरीज के साथ जाए, क्योंकि ये भी हो सकता हैं की आपका मरीज आपके बिना डॉक्टर के पास जाने में सक्षम ना हो , इसलिए आप पूरा ध्यान रखे । 
  13. मरीज के सामने ये ना दिखाए की आपकी वजह से सब परेशान है, ऐसा कोई कार्य ना करें और ना कोई बात कहे जिससे किसी को ऐसा लगे की आप अपने अहसान को जता रहे हैं । ये भी एक प्रकार की सेवा हैं जिसे आप सच्चे मन से करें ।
  14. मरीज के सामने ज्यादा इमोशनल ना हो इससे मरीज फील करेगा की शायद वह ज्यादा बीमार हैं । 
  15. मरीज को बिलकुल अकेला ना छोड़े, हर पल कोई ना कोई उसके साथ रहे, अगर कभी कोई मरीज अकेला होता हैं तो उसे अकेलापन भी फील हो सकता हैं और उसे किसी चीज की जरुरत भी हो सकती हैं , इसलिए मरीज के आस – पास ही रहे पर अपनी हेल्थ का भी पूरा ध्यान रखे । 
  16. मरीज को ऐसी कोई बात अचानक ना बताये जिससे वो परेशान हो , किसी भी बात को करने से पहले थोड़ी सी भूमिका बना ले ।
  17. मरीज के सामने कैसे होगा, क्या होगा , कहा से आएंगे पैसे इत्यादि बातें ना करे, उसे रिलैक्स करें की सब मैनेज हो जाएगा । आपके द्वारा  अनजाने में कही गयी बात मरीज को दुःख दे सकती हैं , इसलिए सोच समझकर जितना जरुरत हो उतना ही बोले ।
  18. मरीज अगर डॉक्टर के द्वारा बताये गए इंस्ट्रक्शन फॉलो नहीं कर रहा हैं तो उसे प्यार से समझाए ना की डांटें और डपटें ।
  19. मरीज के सामने मोटिवेशनल बातें करें , उसे विश्वास दिलाये की तुम जल्दी ही ठीक हो जाओगे या हो जाओगी ।
  20. मरीज के साथ थोड़ा friendly और disciplined रहे, क्योंकि दवायें अपना काम करेंगी और आपका प्यार और स्नेह अपना काम करेंगा ।

मन के हारे हार हैं और मन के जीते जीत , परिस्थितया कैसी भी हो आप बस धैर्य के साथ आगे बढ़ते रहे , यही जीवन का सार हैं ।

Share This :