आज सबसे पहले खुद को जानने की कोशिश करें But How to Know Yourself पर सवाल वही हैं की कैसे खुद को जाने , क्योंकि हम सब ने कही ना कही अपने से ज्यादा दूसरों पर विश्वास किया हैं , कभी खुद को सुना ही नहीं।

कभी ये जानने की जरुरत नहीं समझी की हमारा मन क्या चाहता हैं, हम क्या चाहते हैं, हम कितने सही हैं, और कितने गलत, हमे क्या पसंद हैं और क्या नहीं।

हम सब ऐसे दौर से गुजर रहे हैं, जहा हम खुद से ज्यादा दूसरों को समझने में लगे हैं। दूसरों के बारे में सोचने समझने से पहले थोड़ा खुद पर भी विचार करना सीखे , हमेशा जो लोग दूसरों पर ही ध्यान देते रहते हैं, वह खुद की Life में ना ही focus कर पाते हैं और ना ही जीवन में विकास कर पाते हैं।

दूसरों को जानना अच्छी बात हैं, पर खुद को ignore करके नहीं इसलिए पहले खुद को समझो और फिर दूसरों को समझो।

आज लोग ना ही अपनी अच्छाईया देखते हैं और ना ही अपनी बुराईया क्योंकि उनको दूसरों से ही फुर्सत नहीं मिलती हैं।

आपने ज्यादातर लोगो को दूसरों के बारें में ही बात करते सुना होगा। अपने बारे में कभी बात नहीं करना ही आपकी खुद को लेकर इतनी लापरवाही को दिखाता हैं ।

How to Know Yourself

खुद को जानना क्यों जरुरी हैं ?

खुद को जानना इसलिए जरुरी हैं, क्योंकि जब तक आप खुद को नहीं जानेगे , आप जिंदगी में ना ही अपने लक्ष्य की प्राप्ति कर पाएंगे और ना ही आप अपने जीवन को साकार रूप दे पाएंगे।

हम सब को ईश्वर ने कही ना कही किसी उद्देश्य (Purpose) के तहत इस दुनिया में भेजा हैं, पर हम सोचते हैं, की बस लाइफ हैं ऐसे ही कट जायेगी , जो है , सब ठीक हैं। जब तक आप खुद को नहीं जानोगे , आप अपने जीवन को सही दिशा नहीं दे पाओगे।

खुद को जानना हैं तो इन बातों पर दे ध्यान

यदि आप भी अपने आप को जानना चाहते हैं, तो नीचे बताई गई बातों को ध्यान से पढ़े।

आप जीवन में क्या बनना चाहते हैं

हर व्यक्ति की एक अपनी इच्छा होती हैं। रोजी रोटी कमाने के लिए तो कुछ भी बन जाओ पर आपका मन क्या चाहता हैं, क्योंकि वास्तविक सुख तो तभी मिलेगा जब आप अपनी इच्छा से अपनी लाइफ को लीड करेंगे।

आपका जीवन के प्रति क्या नजरिया हैं

आप जीवन को किस तरह से देखते और महसूस करते हैं। आप अपने जीवन को कोई उद्देश्य देना चाहते हैं, या फिर ऐसे ही जब तक जीवन हैं काट लेंगे , वाले सिद्धांत पर अपने जीवन को चलाना चाहते हैं।

आप सबसे अलग कैसे हैं

आपके व्यक्तित्व में वह कौन सी बातें हैं , जो आपको सबसे अलग करती हैं। आप अपने व्यक्तित्व से सटिस्फाइड हैं या नहीं , अगर हैं तो क्यों हैं और यदि नहीं हैं तो क्यों नहीं हैं, इन तमाम सवालों के जवाब आपको पता होने चाहिए।

अपनी शक्ति और कमजोरी को जाने

आप अपनी मजबूती और कमजोरी दोनों को समझे और उसे स्वीकार भी करें। बहुत सारे लोग अपनी कमियों को स्वीकार नहीं करते हैं जिससे वह जीवन में कठोर प्रयास करने के बाद भी वह सब नहीं कर पाते हैं, जो वह करना चाहते हैं, इसलिए आप जिस काम को बेहतर कर सकते हैं, और अच्छा कर सकते हैं, उसी काम में अपनी आप को लगाए।

किसी अन्य को देखकर अपने जीवन की रूप रेखा ना बनाये, क्योंकि हर व्यक्ति अपने आप में अलग हैं। आप वह करें जिसमे आपकी रूचि हो और उस काम को करने की छमता भी भरपूर हो।

अपने को जानना हैं तो मैडिटेशन करें

अपने आप को सांसारिक दुनिया में रहकर कैसे जानना हैं, ये आप पर निर्भर करता हैं । सब कुछ सही है या गलत हैं, या कुछ सही हैं और कुछ गलत हैं, ये सब आपके विवेक पर निर्भर करता हैं। मैडिटेशन अपने आप को जानने का बहुत ही अच्छा तरीका हैं, इसलिए आप किसी भी उम्र के ही क्यों ना हो , मैडिटेशन करे।

जब भी समय मिले , ध्यान जरूर लगाए , इससे आप शारीरिक रूप से और मानसिक रूप से भी अच्छा महसूस करेंगे।

सच और वास्तविकता में रहे

जीवन को जितनी सच्चाई से जियेंगे, आपके जीवन में उतनी ही शांति होगी। ख़याली पुलाव वाली जिन्दगी से दूर रहे। जो सच हैं, उसे ही माने बाकी तो सब छलावा हैं। जो सामने हैं, जो अपने पास हैं, उसमे खुश रहे ना की बेकार की बातों में अपना समय और जीवन दोनों को नष्ट करे। साँच को आंच नहीं , आपने सुना ही होगा , जब आप अपने जीवन को पूरी सच्चाई से जियेंगे तो ना ही आपके जीवन में कठिनाईया होगी और ना ही बेकार की परेशानिया होगी।

Share This :