इस जीवन में हर व्यक्ति को जो नहीं मिलता हैं, उसके बारे में वह दिन -रात सोचता हैं, पर क्या सिर्फ सोचना सही हैं इसलिए आज बात करेंगे How to stop overthinking.

Overthinking एक बहुत बड़ी समस्या हैं फिर चाहे नेगेटिव हो या फिर पॉजिटिव हो, ये कही ना कहा आपको और सबको परेशान ही करती हैं।

एक बात तो ये पूरी तरह से सच हैं की इंसान सिर्फ बुरी बातों के बारे में, बुरे पलो के बारे में ही Overthinking करता हैं , या उसके मन में दबा ऐसा डर जो वह किसी से नहीं share करना चाहता हैं।

Overthinking भी एक तरह की बीमारी हैं और ये कभी -कभी इंसान को इतना नुक्सान पंहुचा देती हैं की वह किसी भी काम को करने के लायक ही नहीं रहता हैं। ये मन बहुत चंचल हैं, और उदास भी हैं, कब क्या सोचेंगे किसी को नहीं पता हैं। आज हम कितना भी बात करे की पॉजिटिव सोचो, पर जब वक़्त आता हैं तो सबसे पहले इंसान नेगेटिव ही सोचता हैं और इंसान की फितरत हैं जो की कभी नहीं बदलेगी।

आज हर कोई कहता हैं की पॉजिटिव सोचो, पर असल में सोचता कोई नहीं हैं, किसी भी बात को दूसरों को बोलना आसान हैं पर जब खुद से करना होता हैं तो सिचुएशन कुछ अलग ही होती हैं।

How to stop overthinking
How to stop overthinking

Overthinking में इंसान खुद से अलग -अलग विचार अपने मन में लाकर एक नयी ही कहानी सोच लेता हैं, की उसने ऐसा क्यों कहा, ऐसा होगा की नहीं होगा, उसे ये बात पता चली तो क्या होगा, और ना जाने कितने सवाल वह खुद से करने लगता हैं और जाहिर सी बात हैं जब उन सवालों के जवाब नहीं मिलते हैं तो परेशानी तो होनी ही हैं।

Overthinking करने वाले लोग जरा सी बात को बहुत ज्यादा समझ लेते हैं, वह किसी की भी बात का बुरा मान जाते हैं और उसे दिल में रखकर अपनी ही ख्याली सोच से लड़ते रहते हैं।

अति की कोई भी चीज अच्छी नहीं होती हैं, फिर चाहे प्यार हो, दुलार हो, दया हो, दान हो, घृणा हो, इर्षा हो, या फिर Overthinking हो इसलिए सदैव अति से बचे रहे।

Tips to stop overthinking

यदि आप चाह गए तो वह सब कुछ हो सकता हैं जो आप सोचते हैं, आइये सोचने से ज्यादा एक्शन पर विश्वास करे।

खुद को व्यस्त रखे

हर व्यक्ति की जिंदगी में टाइम टेबल का अपना एक अलग महत्व हैं, वह बात अलग हैं की टाइम टेबल अलग -अलग हो। आप अपनी जिंदगी में जितनी आर्गनाइज्ड रहेंगे आपकी जिंदगी उतनी ही अच्छी होगी और इसका सबसे ज्यादा फायदा ये भी होगा की जब आपके पास खाली समय ही नहीं होगा तो आप Overthinking भी नहीं करेंगे।

अक्सर वही व्यक्ति ज्यादा सोचते हैं जिनके पास कुछ करने को नहीं हैं, या करने को तो बहुत कुछ हैं पर वह करना नहीं चाहते हैं। इसलिए हमे ऐसे लोगो की संगत भी नहीं करनी हैं जो जीवन को सिर्फ सोचने में ही गुजार देना चाहते हैं। अपने दिन का एक schedule बनाये, अपने week और अपने month की प्रॉपर प्लानिंग करे, और उस प्लानिंग में अपने ऑफिस वर्क, बच्चे, पत्नी, माता -पिता और दोस्तों के लिए भी समय निकाले ना की कोल्हू के बैल की तरह चौबीस घंटे सिर्फ काम में लगे रहे।

शरीर और मन जब दोनों हेअल्थी होंगे तो आपकी सोच बैलेंस में होगी। ज्यादा सोच कर कुछ नहीं होगा, बल्कि ज्यादा करके होगा। आज ज्यादातर लोगो के सपने तो बहुत बड़े हैं, पर उन सपनो को पूरा करने के लिए उनके पास कोई प्रॉपर प्लानिंग नहीं हैं, और बहुत से तो ऐसे लोग मिल जाएंगे जो सालों से एक ही सपने को पूरा करने में लगे हैं।

जीवन में समय सबसे बलवान हैं, जो कभी रुलाता हैं तो कभी बहुत हंसाता हैं, आनेवाला कल कैसा होगा किसी को नहीं पता हैं इसलिए अपने आप को सही कामो में लगाओ जिससे आपका कल सुरक्षित हो। आज खूब काम करो, जिससे कल आप आराम करो, लेकिन यदि आप आज सिर्फ सोचते ही रह गये तो निकला हुआ समय फिर कभी लौटकर नहीं आएगा।

आपकी शारीरिक और मानसिक ऊर्जा भी समय के साथ कम हो जायेगी इसलिए अपने आज पर focus करो, ना की फालतू की बातों में अपना समय और ऊर्जा दोनों को गावओ, जिंदगी एक बार सबको मौका देती हैं, बस जो इस मौके को पहचान गया और उसके पीछे लग गया, जीवन तो उसी का बन गया, पर बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो आये हुए मौके को समझ ही नहीं पाते हैं और जिंदगी के वर्तमान समय में और भूतकाल में ही उलझ कर रह जाते हैं।

लाइट म्यूजिक सुने

दुनिया लोगो से भरी हुयी हैं, जिसमे सबके विचार अलग -अलग हैं , आप न ही किसी के जैसे बन सकते हैं और ना ही कोई आपके जैसा बन सकता हैं, हर कोई अपने हिसाब से अपनी जिंदगी को बेहतर करने का प्रयास करता हैं। अपने मन को खुश रखो, संगीत को अपना साथी बनाओ, जब भी समय मिले तो अपने मन पसंदीदा गाने सुनो और गुनगुनाओ जिससे आपका नेगेटिव बातों से भरे हुए दिमाग से कुछ बेकार की बातें निकाल जाए और सुन्दर -मधुर संगीत के लिए जगह बन जाए।

संगीत में बहुत पावर हैं, जो आपको जीवन को जीने का एक अलग ही नजरिया देती हैं, इसलिए लाइट म्यूजिक सुने और Overthinking से बचे। आप जीवन में ज्यादा सोचकर कुछ हासिल नहीं करते हैं, यदि आप सच में लाइफ के प्रति सीरियस हैं तो सोचने के साथ -साथ एक्शन पर भी काम करे।

मैडिटेशन करे

अपनी आँखों को बंद करो, अपने सोच को रोकने की कोशिश करे, और कुछ देर मैडिटेशन करे, जिससे आपकी शारीरिक और मानसिक छमता दोनों बढ़ेगी। लोगो को जानने से पहले खुद को जाने -पहचाने, की आप इस दुनिया में क्यों आये हैं, वह कौन से उद्देश्य हैं जिनकी प्राप्ति आपके लिए बहुत जरुरी हैं।

अपनी सोच को एक सही आकर दे, जिससे आप अपनी लाइफ को एक सही दिशा दे सके। जिस व्यक्ति को ये ही नहीं पता हैं की उसे जीवन में क्या करना हैं, वह ना ही खुद की लाइफ को सिक्योर कर सकता हैं और ना किसी अन्य को कोई सही दिशा दिखा सकते हैं।

आज जो व्यक्ति असफल हैं, वह आपको सफलता कठिन होती हैं, का पाठ पढ़ायेगा, पर जिसने सफलता का मजा चख लिया हैं, वह आपको सदैव सफलता को पाने के लिए प्रेरित करेगा।

एक असफल व्यक्ति संसार में सबको सिर्फ असफलता की ही कहानी सुनाता हैं, पर जब कोई एक व्यक्ति सफल होता हैं तो वह लाखों -करोङो लोगो की आँखों में अनगिनत सपनों को जनम देता हैं।

अपनी सोच पर काबू रखे

जो व्यक्ति अपनी इन्द्रियों को अपने वश में नहीं रख सकता हैं, वह जीवन में कैसे खुश रह सकता हैं। जिंदगी में कब तक आप शिकायत करते रहेंगे, एक बार सबकी तारीफ करके भी देखिये की आप कैसा फील करते हैं। आपको सबके जैसा नहीं बनना हैं, की सब जो कर रहे हैं वही आप करेंगे, आपको वह करना हैं जो वास्तव में सही हो। किसी भी चीज को जब आप सही तरीके से प्राप्त करेंगे तो उसका आनंद ही कुछ और होगा। जीवन में पाना सीखिए ना की छीनना, जीवन में देना सीखे और पाने के लिए मेहनत करे ना की शिकायत करे।

इधर -उधर की बेकार की बातों में अपना समय ना व्यर्थ करे, मन में ऐसे विचार ना लाये जिसका ना ही सिर हो और ना ही पैर हो। अपनी सोच पर काबू रखे क्योंकि इंसान वही बोलता हैं जो वह सोचता हैं, और यदि आप गलत सोचेंगे तो आप गलत ही बोलेंगे।
सकारात्मक सोचे, जो चीजे आपने कभी नहीं सोची थी इसलिए वह आपके पास नहीं हैं और जिसने सोची थी उनके पास हैं इसलिए सिचुएशन चाहे जितनी भी ख़राब क्यों ना हो, आप अपनी भक्ति और विश्वास को कभी कम मत होने देना। रास्ता थोड़ा मुश्किल और कठिन हो सकता है, पर मंजिल मिलने पर वह सब परेशानिया आप एक पल में दूऱ हो जाएंगी।

जीवन में बहुत से लोग मिलेंगे जो आपको बुरा – भला भी कहेंगे, पर आपको हर दिन खुद को सही करना हैं पर अपनी मंजिल से डगमगाना नहीं हैं। आपको दुनिया के लोगो को नहीं खुद को हराना हैं, इसलिए लोगो को अच्छा करने पर विचार ना करके सबसे पहले खुद को बेहतर बनाओ। किसी की गलती को नोटिस करने से पहले अपनी गलतियों को सुधारों, जब आप अच्छा करेंगे तो आपके संपर्क में आया हुआ हर व्यक्ति बेहतर के लिए प्रयास करेगा।

किसी को भी जज ना करे

किसी को भी जल्दबाजी में जज ना करे, आप जब तक की किसी को पूरी तरह से ना समझ ले, तब तक अपनी राय ना दे। हर व्यक्ति की सिचुएशन अलग -अलग होती हैं, इसलिए किसी को भी गलत ना कहे, हो सकता हैं जो चीज आपके हिसाब से गलत हो पर वही चीज उसके हिसाब से सही हो।

किसी को भी जज करने से पहले दोनों एंगेल से सोचे की आप उस व्यक्ति की जगह होते तो क्या करते , जवाब आपको मिल जाएगा क्योंकि दूसरों पर हम आसानी से ऊँगली उठा देते हैं लेकिन जब वही बात हमारे साथ होती हैं तो हम भी वही करते हैं जो आज सामने वाला कर रहा हैं।

अपनी बात को सबके सामने बताना सीखे

आप बातों को जितना छुपायेंगे , जीवन भी उतना कठिन होगा, अपने जीवन को खुली किताब की तरह रखे, जो भी कहना हैं जिससे कहना हैं, उससे खुलकर अपनी बात कहे। एक बात सदैव ध्यान रखना बात करने से सदैव बात बनती हैं, और यदि आप बात नहीं करेंगे तो आपकी जिंदगी में और प्रोब्लेम्स आएँगी जिनको आप चाहकर भी कम नहीं कर पाएंगे।

अपनी सोच को शेयर करने में कोई बुराई नहीं होती हैं, जब इंसान एक जैसा नहीं हैं , उसकी परिस्थितिया एक जैसी नहीं हैं तो इंसान की सोच एक जैसी कैसे हो सकती हैं।

कोई भी एक आउट डोर या इंडोर गेम खेले

एक गेम जरूर खेले, फिर चाहे इंडोर हो या फिर आउटडोर, आप ये ना सोचे की अब इस उम्र में कहा ये सब होगा। आप जीवन के चाहे किसी भी उम्र के दौर से गुजर रहे हो अपनी पसंद का खेल जरूर खेले।

याद करिये अपने बचपन को जब आप खेलते थे, तब उस समय आपका मन कितना खुश रहता था, आज माना की उलझने बहुत हैं, पर इन उलझनों से छुटकारा पाना चाहते हैं तो आज से ही खेलना शुरू करिये। बहुत से गेम हैं जैसे लूडो, यूनो, चेस, कार्ड्स, बैटमिंटन, फुटबाल, क्रिकेट या फिर कोई भी जो आपको पसंद हो।

सबकी हेल्प करे

सबकी हेल्प करने की हैबिट बनाये और जीवन में ये कभी ना सोचे की आपको कभी किसी की जरुरत नहीं पड़ेगी। इंसान को इंसान की वैल्यू करनी चाहिए, ना की अपने आप पर घमंड करना चाहिए। जब भी मौका मिले आप लोगो की मदद करे जिससे आपको मानसिक सुकून मिलेगा जो आपको लाखों -करोङो रुपये खर्च करके भी कही नहीं मिलेगा।

गलत बातों का खुलकर विरोध करे

अपने अस्तित्व को कभी ख़तम ना होने दे, और जब भी कुछ गलत दिखे तो उसका खुलकर विरोध करे क्योंकि आप अपनी जिंदगी को जितना सच्चाई से जियेंगे आप उतना ही सुकून फील करेंगे और overthinking से भी बचे रहेंगे।

लोगो की बातों में हां में हाँ इसलिए ना मिलाये की आपके रिश्ते ख़राब हो जाएंगे, ऐसे रिश्ते कोई काम के नहीं जो आपको गलत मार्ग पर ले जाए और खुद को इतना आगे जाने से आप खुद रोके की आप फिर कभी वापस आना भी चाहे तो वापस ना आ पाए।

Stop Overthinking for yourself.

Share This :