किसी भी काम की शुरवात करने के लिए बातचीत एक बड़ा माध्यम हैं ऐसे में एक बड़ा और जरुरी विषय हैं , How to talk confidently आप इसके बारे में जितना जल्दी समझ लेंगे अपनी life में उतनी जल्दी ही सफलता ले पाएंगे। लाइफ में बातचीत तो सभी करते हैं पर कोई बहुत ही confidently बात करता है और कोई बात तो करता हैं पर डर -डर के बात करता हैं।

जो लोग confidently बात करते हैं वह बिज़नेस, जॉब और लाइफ में सब जगह सफल होते हैं। Confidently talk फ़ोन और फेस तो फेस दोनों के लिए बहुत ही matter करती हैं।

आज confidently बात करना जीवन का एक अहम् हिस्सा हैं , आप चाहे ज्ञान के कितने धनी हो लेकिन आप जब तक सफल नहीं होंगे जब तक आप किसी से confidently टॉक करने में सक्षम नहीं होंगे। जब तक लोग आप पर विश्वास नहीं करेंगे , ना ही वह आपको सुनेगे और ना ही वह आपकी बात मानेंगे।

How to talk confidently
How to talk confidently

आज ज्यादातर लोगो के पास ज्ञान तो बहुत हैं पर वह उस ज्ञान को दुनिया से शेयर नहीं कर पाते हैं इसके पीछे कारण वही हैं बात करने में हिचकिचना। आज एक से एक होशियार लोग इस दुनिया में हैं लेकिन जब बात आती हैं पब्लिक स्पीकिंग की तो बड़े – बड़ो की हवा निकल जाती हैं और उनका सारा ज्ञान और confidence एक पल में ख़तम हो जाता हैं तो इसी को आगे बढ़ाते हुए हमे ये समझना होगा की हम सब को कौन सी ऐसी आदतें अपनानी होगी जिससे हम सब से सामने कॉन्फिडेंटली बात कर पाए।

Confidently talk के लिए tips

आराम से बात करे

जब भी आप किसी से बात करे तो ऐसे ना बात करे जैसे आपकी ट्रैन छूट रही हो, हमेशा आराम से बात करे, इसके पीछे एक कारण ये भी हैं की जब आप आराम से अपनी बात कहेंगे तो सामनेवाला भी आपकी बात को प्रॉपर सुनने में सक्षम होगा और जब वह आपकी पूरी बात को सुनेगा और समझेगा तो इससे आपका प्रभाव भी अलग ही पड़ेगा। यदि आपका मकसद सिर्फ अपनी बात को पूरा करना हैं तो आप बात ना ही करे तो ज्यादा अच्छा हैं।

अक्सर लोग उन्ही लोगो को ज्यादा पसंद करते हैं जो अपनी बात को आराम से पेश करते हैं। जो ज्यादा जल्दी -जल्दी बोलते हैं लोग पीठ पीछे उनके बारे में निंदा ही करते हैं जैसे अरे हौलट हैं, तमीज नहीं हैं बात करने की , इसे तो बस अपनी ही कहना हैं सुनता तो हैं नहीं इत्यादि, इसलिए हमेशा बड़ी ही आराम से बात करे।

कब बोलना हैं इस बात का ध्यान रखे

कब क्या बोलना हैं इस बात का सदैव ध्यान रखे। जो लोग ओवर कॉंफिडेंट होते हैं वह इस बात पर ध्यान नहीं देते हैं की वह कब क्या बोल रहे हैं इसलिए सदैव जब भी बोले तो जांच परख ले की कब क्या बोलना हैं।

एक अच्छी और सही बातचीत ही आपको लाइफ में सफल कर सकती हैं , हम पूरे दिन में ना जाने कितना बोलते हैं, क्या कभी आपने सोचा हैं की क्या उतना ज्यादा या कम बोलने की जरुरत थी या नहीं थी।

हमेशा मौके की नजाकत को समझे , और सोच समझ कर ही बात करे, इससे आपकी छवि सबकी नजरों में बहुत अच्छी होगी और ज्यादा से ज्यादा लोग आपसे जुड़ना चाहेंगे।

बहुत तेज आवाज में ना बोले

इंसान की बातें ही एक दूसरे से कनेक्ट या डिसकनेक्ट करती हैं इसलिए जब भी बोले तो अपनी वौइस् टोन को ध्यान में रखकर बोले ऐसा न हो की आप अचानक बहुत ज्यादा लाउड हो जाए । जब भी बात करे तो ऐसे बात करे की आपके आस -पास कोई भी व्यक्ति डिस्टर्ब ना हो, बात करने का ये मतलब कतई नहीं हैं की हम दूसरों के समय को ख़राब कर दे , इसलिए जब भी आप किसी से भी बात करे तो अपनी आवाज का साउंड उतना ही रखे जितना की पास बैठा व्यक्ति आसानी से आपकी बात को सुन सके और समझ सके।

एक पढ़ा लिखा सभ्य आदमी या औरत हमेशा बहुत की पोलाइट तरीके से बात करेगा, इसलिए यदि आपको भी तेज बोलने की आदत हैं तो आप इस आदत को बदल दीजिये और फिर देखिये आपकी पर्सनालिटी में ये कितना बड़ा पॉजिटिव परिवर्तन होगा जिससे आप सभी की प्रिय बन जाएंगे।

बहुत जल्दी -जल्दी ना बोले

जब भी बात करे तो बहुत स्पीड में अपनी बात को ख़तम ना करे, बल्कि अपनी बात को सही तरीके से और सही स्पीड में कहे जिससे लोग आपकी हर एक बात को अच्छे से सुन और समझ पाए क्योंकि जब लोग आपकी बात को सही से सुनेगे और समझेंगे तो जाहिर सी बात हैं की आप ज्यादा से ज्यादा लोगो को प्रभावित करने में सक्षम होंगे।

बिना किसी झिझक या डर के बोले

अपनी बात को पूरी सच्चाई से और पूरे विश्वास से कहे क्योंकि लोग आप पर भरोसा तभी करेंगे जब आप अपनी बात को एक भरोसे और जिम्मेदारी के साथ कहेंगे। जब आपकी बात सच्ची होगी तो ना ही आपकी आवाज में डर होगा और ना ही आपके चेहरे पर कोई डर के भाव होंगे।

विश्वास के साथ बात करे

जब आप सही होंगे तो आपकी आवाज में एक अलग ही विश्वास होगा और आपके चेहरे पर एक अलग ही आत्म विश्वास होगा, इसलिए जो भी बोले उसे पूरी जिम्मेदारी से बोले, आपकी द्वारा कही गयी एक-एक बात किसी की जिंदगी को बना और बिगाड़ दोनों सकती हैं इसलिए जब भी बोले अच्छा बोले।

वर्तमान बातचीत पर ध्यान दे

टॉपिक से रिलेटेड ही बात करे, एक समय पर एक ही टॉपिक को डिसकस करे जिससे एक सही रिजल्ट भी निकले, यदि आप हर तरह की बातें एक ही समय में करेंगे तो आप किसी भी टॉपिक के रिजल्ट और निष्कर्ष तक नहीं पहुंच पाएंगे। पुरानी बातों को ना करे, और ना ही आज से दस साल बाद क्या होगा इस बारे में डिसकस करे। अपने आज को कैसे आप सवाँर सकते हैं सिर्फ इस पर ही चर्चा करे।

उम्, हम्म इत्यादि शब्दों को हटा दें

बात को पूरा करे और पूरा बोले, इससे सामने वाले के लिए एक अच्छा मैसेज जाता हैं की आप उसकी बात को ध्यान से सुन रहे और उसमे रूचि भी ले रहे हैं।

कपडे सही और साफ़ सुथरे पहने

अपने पहनाव का पूरा ध्यान रखे, क्योंकि आप चाहे कितने भी विद्वान् ही क्यों ना हो यदि आपने सही से कपडे नहीं पहने हैं तो भी आपका कॉंफिडेंट loose हो सकता हैं , इसलिए हमेशा साफ़ सुथरे कपडे पहने और जब भी लोगो के सामने जाए तो अच्छे तरीके से अपने आप को पेश करे।

Share This :