सबके ऊपर भरोसा करने से पहले खुद के ऊपर भरोसा करना सीखे। How to trust yourself ( खुद पर कैसे भरोसा करें) आज दुनिया भर की बातें हम सब करते हैं की किसी का कोई भी भरोसा नहीं हैं की कौन, कब, क्या करे , क्या कभी आपने सोचा हैं की आपको खुद पर भरोसा हैं। इसकी चर्चा इसलिए की जा रही हैं क्योंकि हर व्यक्ति सबसे कहता रहता हैं की भरोसा मत तोडना पर वह एक दिन खुद ही trust को break कर देते हैं ऐसे में आपको खुद को सबसे पहले समझना हैं और उसके बाद किसी के बारे में कोई विचार करना हैं।

क्या आपने लाइफ में कभी किसी को धोखा दिया, क्या आपने लाइफ में कभी किसी के पीठ पीछे उसकी बुराई करी, क्या आप लोगो की हमेशा कमिया ढूढ़ते हैं, इत्यादि, यहाँ कहने का मतलब हैं जो चीज हम दूसरों से चाहते हैं उसे पहले खुद तो करना शुरू करिये।

आप खुद के trust को build करना चाहते हैं तो सबसे पहले आत्म चिंतन करिये, और अपने आप से वादा करिये की चाहे कोई भी सिचुएशन हो आप पीछे नहीं हटेंगे।

आपको सिर्फ खुद पे काम करना हैं की आप अपने द्वारा कही गयी हर बात को पूरा करेंगे। अपने आप पर इस लिए भी trust होना जरुरी हैं क्योंकि अक्सर लोग अन्य लोगो से तो कस्मे खिला लेते हैं पर जब खुद की बात आती हैं तो उस काम को पूरा नहीं कर पाते हैं इसलिए लाइफ में सबसे पहले खुद पे trust करे और उसको पूरा करे।

जैसे आप दो दोस्त हैं , और आपके दोस्त ने कल शाम को 5 बजे आपको पार्क में मिलने के लिए बुलाया हैं , आपका दोस्त तो समय से पहुंच गया पर आप नहीं पहुंच पाए बल्कि सबसे ज्यादा आपको ही टेंशन थी की आपका दोस्त समय पे आएगा की नहीं, इसका मतलब आपके दोस्त को समय और कही गयी बात दोनों को वैल्यू देना आता हैं, पर आपको नहीं आता हैं, ये वैसे तो छोटी सी बात हैं, पर आजकल लोग छोटी -छोटी बातों का परीक्षण करके ही इंसान एक -दूसरे के बारे में पॉजिटिव ना नेगेटिव राय बना लेते हैं।

How to trust yourself
How to trust yourself

खुद से किये गये हर वादे को निभाए, अक्सर हम मन में सोचते हैं की कल सुबह हम 5 बजे उठ जाएंगे और फिर टहलने जाएंगे लेकिन जब अगली सुबह आती हैं तो हम इसे भूल जाते हैं या फिर ignore कर देते हैं , इसका मतलब हैं की आपका खुद पे ही कण्ट्रोल नहीं हैं। अक्सर हम दूसरों से तो बहुत सी उम्मीदें लगा लेते हैं पर जब अपनी बारी आती हैं तो हम पीछे हट जाते हैं।

आप का खुद पे trust तभी बढ़ेगा जब आप चीजों की प्लानिंग करके उनको एक्शन में लाएंगे, सिर्फ खयाली पुलाव बनाने से कुछ नहीं होगा, इसलिए एक्शन mode में रहे, तब तक शांति से ना बैठे जब तक आप अपने उद्देश्य या सपने को पूरा ना कर ले।

अक्सर आपने देखा होगा, लोग वह करते हैं जो उन्हें अन्य लोग बता देते हैं, या वह अन्य लोगो में देखते हैं , पर ऐसे बहुत कम लोग मिलेंगे जो अपने दिमाग के हिसाब से काम करे और उस पर कण्ट्रोल भी करे।

जब आपका खुद पे trust होगा, तभी आप दूसरों को भी trust दे सकते हैं।
  • सबसे पहले छोटे -छोटे कामो को पूरा करने की आदत बनाये, जिससे आपका विश्वास बढ़ जाएगा।
  • किसी भी काम को कल पर ना छोड़े, जितना आज ख़तम कर ले उतना ही अच्छा हैं, और ये कही ना कही आपके भरोसे को और मजबूत करेगा।
  • दो लोग हैं जो एक ही उम्र के हैं, दोनों में एक व्यक्ति उसी काम को कर लेता हैं और एक व्यक्ति नहीं कर पाता हैं, ये सब self trust का ही खेल हैं।
  • जब आप खुद पे trust करते हैं तो आपका दिमाग भी आपकी हेल्प करने लगता हैं, और वह हर समस्या को सुलझाने में लग जाता हैं।
  • किसी भी काम को रोज करे, इससे आपका खुद पर trust और बढ़ जाएगा, जैसे यदि आप एक बार 10 लोगो का खाना बना लेते हैं तो आपका आत्म विश्वास बढ़ जाता हैं की आप उस काम को आसानी से कर सकते हैं, पर जब तक आपने वह काम नहीं किया होता हैं तो आपका trust भी डगमगाता रहता हैं।

खुद पे trust करने के फायदे

  • आपको जो जीवन में विजयी बनाएगा, वह आप खुद हैं।
  • आपको जो जीवन में सफल करेगा, वह आप खुद हैं।
  • जो आपकी प्रोब्लेम्स को solve करेगा, वह आप खुद है।
  • जो आपके सपनो को पूरा करेगा, वह आप खुद है।
  • जो आपको हसाएंगा, वह आप खुद हैं।
  • जो आपको टूटने से बचाएगा, वह आप खुद हैं।
  • जो आपको मुसीबतों से लड़ने के लिए तैयार करेगा, वह आप खुद है।
  • जो आपके आत्म सम्मान की रक्षा करेगा, वह आप खुद हैं।
  • जो आपके दर्द को समझेगा, और उसे दूर करने का रास्ता भी दिखाएगा, वह आप खुद है।

इसलिए अपने आप पर भरोसा ही जीवन को जीतने का मार्ग हैं और इस मार्ग को कभी भी मत छोड़ना, फिर चाहे परिस्थितिया आपके कितनी ही विपरीत क्यों ना हो।

Share This :