आजकल के समय में सभी लोग एक दूसरे से दूर -दूर रहकर भी एक दूसरे से connect हैं , यही Importance of Digital Meeting हैं। आज आप चाहे देश जाए या फिर विदेश , हर जगह आप कभी भी अपने मन से किसी भी अपने प्रिय से digitally connect हो सकते हैं , उसे अपनी बात समझा सकते हैं।

कोरोनाकाल में digital meeting का महत्व और चलन दोनों ही बढ़ गया हैं, जिसे देखो वह अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से digitally connect, फिर चाहे कोई business meetings हो, personal meetings हो या फिर कोई official meetings हो। सच में ये किसी अविष्कार से कम नहीं हैं, कभी नहीं सोचा था की आने वाले दिनों में digital meeting का इतना importance हो जाएगा।

आज बच्चो से लेकर बड़ो तक, हर कोई digital meeting का आनंद और लाभ उठा रहे हैं। यदि ये digital meeting ना होती तो अपने knowledge को ना ही किसी से share कर पाते और ना ही किसी के knowledge को प्राप्त कर पाते।

Importance of Digital Meeting
Importance of Digital Meeting

Digital Meeting के फायदे

कही से भी मीटिंग अटेंड कर सकते हैं

Digital Meeting का सबसे बड़ा फायदा यही हैं की आप कही से भी इस मीटिंग को अटेंड कर सकते हैं , यदि आप ऑफिस या घर में नहीं हैं और आप कही बाहर भी हैं तो भी आप आराम से थोड़ा समय निकाल कर मीटिंग को अटेंड कर सकते हैं।

ट्रैवेलिंग में लगने वाला समय की बचत

ज्यादतर लोग किसी भी तरह की मीटिंग को इस लिए भी अवॉयड करते हैं , क्योंकि उन्हें मीटिंग के लिए बहुत दूर जाना होता हैं और उनके पास उतना समय नहीं होता हैं।

आज हर कोई अपना आराम देखना चाहता हैं, और जब भी कही दूर मीटिंग होती हैं तो उसमे जाने से मना कर देते हैं क्योंकि मीटिंग अटेंड करने से ज्यादा समय तो आने जाने में ही लग जाएगा , यही सोच कर लोग पहले से ही मना कर देते हैं।

ट्रैवेलिंग में लगने वाली energy की बचत

जब भी हम किसी मीटिंग को अटेंड करने जाते हैं, तो उससे पहले हमे बहुत सी तैयारियां करनी पड़ती हैं, जैसे कब जाना हैं, कहा जाना हैं, कैसे जाना हैं, और कैसे वापस आना हैं, यदि दूर हैं, तो कुछ खाने के लिए स्नैक्स भी होने चाहिए, यदि साथ में child या wife हैं तो पानी और अन्य चीजों की उचित व्यवस्था, कहने का मतलब बहुत सी प्लानिंग करनी होती हैं, जिसको करने में हमारा मन और तन दोनों ही थका हुआ महसूस करने लगते हैं, और इन्ही सब बातों के कारण हम मीटिंग में जाने से अवॉयड करते हैं, और यदि जाते भी है तो हमे इन चीजों का सामना करना पड़ता हैं और next time नहीं जायेगे ऐसा ख्याल भी आता हैं।।

ट्रैवेलिंग में लगने वाले खर्चे से छुटकारा

जब भी आप मीटिंग अटेंड करने के लिए जाते हैं, तो जाहिर से बात हैं किसी सवारी से जाएंगे , और उस सवारी को चलाने के लिए भी आपको ईंधन की जरुरत होगी और उसके लिए आपको एक अच्छा खासा अमाउंट भी देना होगा। Digital Meeting से आपके ये सारे खर्चे बच जाएंगे और आप घर पर बैठकर आराम से मीटिंग का आनंद ले सकते हैं।

एक साथ ज्यादा लोगो से कनेक्ट हो सकते हैं

Digital Meeting का इसलिए भी importance बढ़ जाता हैं क्योंकि इसमें आप एक साथ बहुत सारे लोगो से connect हो सकते हैं। यदि आप फिजिकल मीटिंग करने की सोचेंगे तो आपको proper space और parking का भी ध्यान रखना होगा, जैसे कितने लोग हैं, कितनी जगह चाहिए, इतने से ज्यादा उस जगह में नहीं आ पाएंगे , इसके अलावा और भी बहुत सारे सवाल हो सकते हैं।

Face to Face कम्युनिकेशन

Digital Meeting में face to face कम्युनिकेशन हैं, जब आप बोलते हैं, तो आप स्क्रीन पर दिखाई देते हैं, और ये सभी के ऊपर अच्छा impact डालता हैं।

Digital Meeting ये भी एक खासयित हैं की इसमें ये बिलकुल नहीं लगता हैं की आप सामने वाले से कोसो दूर हैं, बल्कि ऐसी feeling आती हैं जैसे सामने वाला आपके बिलकुल करीब बैठ कर मीटिंग कर रहा हैं। Digital meeting communication का अच्छा तरीका हैं।

अपनी बात कहने का मौका

Digital Meeting पूरी प्लानिंग से और समय के महत्व को समझते हुए fix की जाती हैं, और हर व्यक्ति को पहले से ही पता रहता हैं, की कब किसका turn आएगा और उसे कितना समय मिला हैं। कही ना कही Digital Meeting में समय का बिलकुल सही प्रयोग करते हैं। हर व्यक्ति समय से join करता हैं और समय से leave करता हैं। Digital Meeting में लोग ज्यादा positive feel करते हैं।

Clear Voice कम्युनिकेशन

Digital Meeting में हम सामने वाले व्यक्ति के द्वारा बोले गये हर एक शब्द को ध्यान से सुन सकते हैं , जिसका सीधा असर हमारे मन और दिमाग पर पड़ता हैं। सरल भाषा में कह सकते हैं की Digital Meeting ज्यादा प्रभावशाली हैं।

Digital Meeting में बोलने वाला और सुनने वाला दोनों ही बहुत attentive होते हैं , क्योंकि meeting में कभी कोई एक व्यक्ति नहीं बोलता हैं, दोनों लोगो को या दो से अधिक लोगो को बारी -बारी से बोलना और सुनना पड़ता हैं , और सही भी है जब तक आप सही से किसी बात को सुनेंगे नहीं, तब तक आप उस पर अपने कोई विचार प्रकट नहीं कर सकते हैं।

Digital Meeting clear voice communication हैं।

Share This :