Jeevan Ki Sacchi Baatein (जीवन की सच्ची बातें ) True Lines on life, जो आपके अलर्ट Button को On कर देंगी । जीवन के सफर में हम सबको अनेको सुखो और अनेको दुखो का अनुभव होता हैं, ऐसे में जीवन कभी – कभी ऐसे मोड़ पर आ जाता हैं , जब हम जीवन की वास्तविकता को समझ लेते हैं ।

जीवन की वास्तविकता कुछ अलग ही होती हैं, ऐसे में अगर आप जीवन में सिर्फ सुखो का अनुभव कर रहे हैं, तो एकाएक दुःख आने पर आप बिखर सकते हैं, इसलिए अपने जीवन को वास्तविकता से दूर ना रहें, खूब एन्जॉय करे, लेकिन जीवन की सच्चाई क्या हैं इसका भी ध्यान रखे ।

जीवन की सच्ची बातें
जीवन की सच्ची बातें

तुम जो करो वह सही, ऐसा मानना अपने आप को धोखा देंना है।

तुम जो करो वह सही, ऐसा मानना अपने आप को धोखा देंना है।

तुम्हे जो दर्द लग रहा है वह किसी की ख़ुशी है।

तुम्हे जो दर्द लग रहा है वह किसी की ख़ुशी है।

किसी की समझ पाना इतना आसान नहीं।

किसी से शिकायत करने से बेहतर है अपने आप पर काम करे।

हमे तो बस अपने कर्मो का हिसाब देना है तुम्हारी तुम जानो।

होंठ बंद है पर आँखें सब बोल देती है।

आज तुम्हे जो पसंद नहीं है शायद कल वह तुम्हे सबसे ज्यादा पसंद हो।

जिससे कम उम्मीद होगी वही सबसे ज्यादा करेगा।

तुम दूसरों को नहीं अपने आप को पहचानो।

सब्र में बहुत शांति है।

जब तुम नहीं किसी को याद करते हो तो दूसरो से अपेक्षा क्यों है।

जब चाहा तब बात किया जब चाहा तब नहीं किया ऐसा करने से आपकी कोई इज्जत नहीं करेगा।

सब कहते है दूसरो के लिए, जियो पर जीता कोई नहीं।

हम अपने ही विश्वास की मूरत हैं ।

महत्वाकांछी होना अच्छी बात हैं पर जरुरत से ज्यादा महत्वाकांछी होना आपको गलत रास्ते पे ले जा सकता हैं ।

अपने आप पर विश्वास ही समस्या का हल है ।

फल तो सबको चाहिए पर कर्म किसी को नहीं करना ।

आप जैसे हो वैसे ही रहो ।

दोस्ती और दुश्मनी समय के साथ ख़तम भी हो सकती हैं और शुरू भी ।

अकेले तो लोग भीड़ में भी हैं ।

झूठ की बुनियाद हर रिश्ते को कमजोर कर देती हैं ।

आलोचना ही सफलता का पहला कदम हैं ।

शिकायत वही होती हैं जहा आप अपनापन महसूस करेंगे ।

जीवन की वास्तविकता से कभी मत भागो ।

लोग दूरियों से नहीं अपने विचारों के कारण दूर हो जाते हैं ।

एक दिए से दूसरे दिए को जलाना ज्ञान बाटने जैसा हैं ।

जो तुम्हारे लिए गलत हैं वह किसी के लिए सही भी हो सकता हैं ।

मन की ख़ुशी तो आपका चेहरा ही बता देगा ।

जो खुद को परफेक्ट मानेगा वह सीखना बंद कर देगा ।

एक दूसरे को नीचा दिखाना बहुत आसान है , पर किसी को स्पेशल फील करवाना सबके बस की बात नहीं ।

Share This :