भारत में नई शिक्षा नीति 2020 को लागू कर दिया गया हैं , प्रधान मंत्री जी के द्वारा और मानव संसाधन विकास मंत्रालय और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के सहयोग से इस नयी शिक्षा नीति की घोषणा की गयी ।  जो की बहुत ही सराहनीय हैं, नयी शिक्षा भारतियों को अपना कौशल बढ़ाने में मदद करेंगे और देश का विकास तेजी से होगा ।  श्री नरेंद्र मोदी जी के शासन  में हमारी शिक्षा नीति में बहुत से परिवर्तन किये गए हैं, जो भारत के विकास को और आगे ले जाएंगे । 34 साल पहले 1986 के बाद अब भारत की नई शिक्षा नीति 2020 में परिवर्तन करके लाया गया हैं । नई शिक्षा नीति 2020 में शिक्षार्थियों के साथ शिक्षकों का भी विकास होगा ।

शिक्षा नीति 2020 New Education Policy in India

शिक्षा नीति में परिवर्तन किया जाए, इसके लिए बहुत सारे सुझाव भी आये, उन सब बातों को ध्यान में रखते हुए ही शिक्षा नीति को बदला गया हैं । नयी शिक्षा नीति से भारत की नयी आधारशिला पड़ेगी ।  नयी शिक्षा नीति बच्चो को और अभिभावकों के लिए बहुत बड़ी राहत लायी हैं, अब बच्चो को activity और skill based शिक्षा दी जायेगी जिससे बच्चो का शारीरिक और मानसिक विकास भी होगा । एजुकेशन डिपार्टमेंट के ये गाइडलाइन्स भली भाँती संचारित होंगी ।

मौजूदा शिक्षा में What to think पे Focus को बढ़ावा दिया जाएगा । नयी शिक्षा नीति के अनुसार Talent और Technology को बढ़ावा दिया जाएगा  । नई शिक्षा नीति 2020 रिसर्च बेस्ड हैं जो की बच्चो में पढ़ाई के लिए रूचि लाएगी, बच्चे पढाई को बोझ की तरह नहीं बल्कि ख़ुशी से पढ़ना शुरू करेंगे ।

नई शिक्षा नीति 2020 के अनुसार 12-2 की जगह अब 5+3+3+4 का फॉर्मेट होगा । इसके लिए आयु सीमा 3-8, 8-11, 11-14 और 14-18 साल तय का समय निश्चित किया गया हैं । एम.फिल को इसकी सूची से हटा दिया गया है |

इस नई शिक्षा नीति 2020 के अनुसार पहले पांच साल में प्री-प्राइमरी स्कूल के तीन साल और कक्षा 1 और कक्षा 2 भी होंगे, उसके बाद आगे के  तीन साल  कक्षा 3 से 5 की क्लास में विभाजित किया गया हैं ।  निजी तथा सरकारी उच्च शिक्षा संस्थानों के लिए नए नियम बना दिए गए हैं ।  छात्रों को अपने मन का सब्जेक्ट चुनने का हक़ होगा, आप कोम्मेर्स, साइंस, आर्ट, खेल, कोई भी विषय अपनी रूचि के अनुसार ले सकते हैं ।

नई शिक्षा 2020 में डिस्कवरी ( Discovery ), डिक्शन ( Diction ) और एनालिसिस ( Analysis ) पे जोर दिया जाएगा ।

लम्बे पाठ्यक्रम ( syllabus ) को कम किया जाएगा । ऐसा पाठ्यक्रम बनेगा जो की जागरूकता की बुनियाद पड़ेगी, बच्चो को उनके रूचि के अनुसार करियर बनाने के ज्यादा ऑप्शन होंगे ।

इस नई शिक्षा नीति 2020 में बच्चो की छमता के अनुसार सारे बच्चो के लिए चाहे वह पढ़ाई में अच्छे हो या कम अच्छे हो सबके लिए नए नए अवसर होंगें, सभी को अपने रूचि के अनुसार अपना करियर बनाने में सहयता मिलेगी । 

बहुत सारे परीक्षा में अच्छे अंक ना आने पर आत्मा हत्या जैसा अपराध भी कर देते हैं, ये सोच बच्चो के दिमाग से निकल जायेगी उसका मूल कारण यही की बच्चो को अपना करियर बनाने के लिए बहुत सारे रास्ते दिखने लगेंगे ।

Share This :