New Year 2021, 1 January दिन बुधवार को हैं । 1 जनवरी को मनाया जाने वाला नया साल वास्तव में , ग्रेगोरियन कैलेंडर पर आधारित है। इसकी शुरुआत रोमन कैलेंडर से हुई है। इस रोमन कैलेंडर का नया वर्ष 1 मार्च से शुरू होता है, और रोमन के प्रसिद्ध सम्राट जूलियस सीजर ने 46 वर्ष ईसा पूर्व में इस कैलेंडर में परिवर्तन किया था।

New Year 2021
New Year 2021

New Year पूरे देश में मनाया जाता हैं , हर कोई इस दिन को अपने हिसाब से मनाता हैं, कोई दोस्तों के साथ टाइम बिता कर , तो कोई अपनों के साथ समय बिता कर । ये दिन सभी के लिए बहुत ही स्पेशल हैं क्योंकि इस दिन एक नए दिन की शुरवात होती हैं , और सभी के मन में आने वाले समय के लिए नयी होप्स क्रिएट हो जाती हैं। गए हुए वर्ष में चाहे कितनी ही परेशानिया क्यों ना रही हो पर जब भी new year आता हैं तो सभी के दिल में नयी चाहतें और उमंगें जनम ले लेती हैं और कही ना कही ये ठीक हैं लाइफ में कभी भी आशा नहीं छोड़नी चाहिए , हमेशा आगे बढ़ते रहना चाहिए।

New Year 2021, टूटे रिश्तों को बनाने का दिन हैं, रूठों को मनाने का दिन हैं । इस बार कोरोना काल में हम सब कही ना कही जिंदगी की सच्चाई से रूबरू हो चुके हैं, ना जाने कितनो ने अपनों को खो दिया। इस लिए new year 2021 को इतना स्पेशल बना दो की इसे कभी ना भूल पाए। दिलों के सिकवे और शिकायते मिटा दो और पूरी ख़ुशी के साथ new year 2021 का स्वागत करो और एक साथ सब लोग मिलकर पूरी भक्ति भाव से ईश्वर से कामना करो की आने वाला समय सभी के लिए मंगलमय हो ।वीडियो कॉल करके एक दूसरे को शुभ कामना सन्देश दो। एक दूसरे को मोटीवेट करो और आने वाल कल बहुत बेहतर होगा , ऐसा विश्वास सबके दिलों में जगाओ।

भारत के ज्यादातर हिस्सों में नव वर्ष (New Year) अलग-अलग तारीखों को मनाया जाता है।

  • पंजाब में नव वर्ष बैशाखी के रूप में १३ अप्रैल को मनाई जाती है। सिख नानकशाही कैलंडर के अनुसार १४ मार्च होला मोहल्ला नया साल होता है। इसी तिथि के आस पास बंगाली तथा तमिळ नव वर्ष भी आता है।
  • तेलगु में नव वर्ष मार्च-अप्रैल के बीच आता है।
  • तमिल में नव वर्ष विशु १३ या १४ अप्रैल को तमिलनाडु और केरल में मनाया जाता है।
  • तमिलनाडु में पोंगल १५ जनवरी को नव वर्ष के रूप में आधिकारिक तौर पर भी मनाया जाता है।
  • महाराष्ट्र में गुड़ी पड़वा के रूप में नव वर्ष मार्च-अप्रैल के महीने में मनाया जाता हैं।
  • आंध्रप्रदेश में इसे उगादी के रूप में मनाते हैं। यह चैत्र महीने का पहला दिन होता है।
  • कन्नड में नव वर्ष उगाडी कर्नाटक के लोग चैत्र माह के पहले दिन को मनाते हैं, सिंधी उत्सव चेटी चंड, उगाड़ी और गुड़ी पड़वा एक ही दिन मनाया जाता है।
  • मारवाड़ी लोग नव वर्ष दीपावली के दिन मनाते हैं ।
  • गुजराती लोग नव वर्ष दीपावली के दूसरे दिन मनाते है।
  • बंगाली नव वर्ष पोहेला बैसाखी १४ या १५ अप्रैल को आता है। पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश में इसी दिन नया साल होता है।
  • मदुरै में चित्रैय महीने में चित्रैय तिरूविजा नव वर्ष के रूप में मनाया जाता है।

New Year को कैसे Celebrate करें

  • अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को शुभ कामनाये भेजे ।
  • एक दूसरे के साथ समय स्पेंड करे ।
  • एक दूसरे को गिफ्ट दे ।
  • केक कटिंग करे, दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ पार्टी करे ।
  • घर डेकोरेट करें।
  • अच्छा खाना खाये।
  • सभी मिलजुलकर नव वर्ष का स्वागत करे और ईश्वर से प्रार्थना करे की हम सब पूरा साल अच्छे से खुश और स्वस्थ रहे ।
  • नए कमिटमेंट करे, अपने उद्देश्य को पूरा करने के लिए और प्रयास करेंगे , ऐसी कामना करे ।

Wish You a Happy New Year !!! With New Hopes

Happy New Year
Share This :