मनुष्य एक सामाजिक प्राणी हैं और हम सब को आदत एक दूसरे के साथ रहना ही अच्छा लगता हैं । What is The Psychology behind ignoring someone, Life में हमारे पास कुछ ऐसे लोग होते हैं जो हमे ignore करते हैं पर हमे इसके पीछे का कारण नहीं पता होता हैं ।

जब आपका जानने वाला कोई आपको ignore करता हैं तो बहुत दुःख होता हैं। आपके मन में सवाल तो आएगा ही की ऐसा क्या हो गया जो वह व्यक्ति मुझे ignore कर रहा हैं , मैंने ऐसा क्या कर दिया, मैंने तो ऐसा कुछ नहीं किया हैं , इस तरह की बातें और विचार आपके मन में उथल -पुथल करेंगी और तब तक करेंगी जब तक आपको इसका जवाब नहीं मिल जाएगा ।

अक्सर ज्यादातर लोगो को ignore करने का कारण ही नहीं पता चल पाता हैं और यदि कारण पता चल जाए तो शायद कोई समस्या ही ना हो, पर ignore करने का कोई ना कोई कारण जरूर होता हैं ये भी बिलकुल सच हैं।

एक बात ये भी हैं की अगर सामने वाला आपके लिए कुछ value रखेगा तो आप उसके ignore करने का कारण जरूर जानना चाहोगे और यदि आपके बस में होगा तो आप फिर से सब ठीक कर देंगे क्योंकि बने बनाये रिश्तों को कोई भी नहीं तोडना चाहता हैं।

What is The Psychology behind ignoring someone
What is The Psychology behind ignoring someone

Reasons to ignore someone

Ignore करने के बहुत से reasons हो सकते हैं इसलिए अपना analysis करें और फिर कोई decision ले।

किसी बात से hurt होना

यदि आपके आस -पास भी आपको कोई ignore कर रहा हैं तो हो सकता हैं की वह व्यक्ति आपकी किसी बात से hurt हो, कोई ऐसी बात जो आपने अनजाने में ही कही हो, या मजाक में ही कही हो, उसके दिल को चुभ गयी हो। दुनिया में सबका स्वाभाव अलग अलग होता हैं इसलिए जब भी किसी से बोले या कुछ भी कहे तो शब्दों का चुनाव सोच समझ करे। ये भी हैं की यदि सामने वाला किसी बात को लेकर पहले से ही दुखी है तो उसे हर छोटी बात भी बुरी लगेगी।

आपका wrong attitude

आपके गलत attitude के कारण भी लोग आपको ignore करना शुरू कर सकते हैं जैसे जरुरत से ज्यादा शो ऑफ, बहुत हाई फाई शो करना , अपने आपको सबसे अलग समझना , हर बात पर लोगो को नीचे दिखाना , हर सूरत में अपनी ही बात को मनवाना, किसी भी बात पर घमंड करना, एक दूसरे से आदर से बात ना करना इत्यादि ऐसे बहुत से कारण हो सकते हैं।

किसी भी रिश्ते को चलाने के लिए ऐसा ना सोचे की सामने वाले की ही सारी जिम्मेदारी हैं , दोस्ती हो, मोहब्बत हो या फिर कोई भी रिश्ता हो, दोनों तरफ से बराबर करना पड़ता हैं , यदि किसी एक तरफ भी जरा सी ढील हुयी तो रिश्ता वही से टूटना शुरू हो जाएगा।

Reserved and introvert nature

दुनिया में हर कोई आपको पसंद करे ये जरुरी नहीं हैं, आजकल ज्यादातर लोग प्रोफेशनल हो गये हैं जितना काम होता हैं उतनी ही बात करना पसंद करते हैं, तो यदि आपको कोई इग्नोर कर रहा हैं तो जरुरी नहीं हैं की उसमे आपकी कोई गलती हो। बहुत सारे लोग reserved nature के होते हैं या introvert होते हैं, उन्हें किसी से भी ज्यादा हसन – बोलना, बात करना पसंद नहीं होता हैं, इसीलिए बिना सोचे समझे किसी भी निर्णय पर ना पहुंचे।

गलत फ़हमियों का पैदा होना

ये भी सच हैं, कभी -कभी कुछ गलत फहमिया भी हो जाती हैं जिसके वजह से लोग इग्नोर करने लगते हैं जैसे उससे कोई कहे की आपने उसके बारे में कुछ बुरा कहा , इस तरह की बातों से भी लोग ignore करने लगते हैं। ऐसी situation में सामने वाले से बैठकर बात कर लीजिये और जो भी problem है उसे वही पर ख़तम कर दीजिये। बातों को ज्यादा बढ़ाये नहीं और ना ही communication gap रखे, जो भी हैं खुलकर शेयर करे , कोई ना कोई सही रास्ता जरूर निकलेगा।

स्वभाव और व्यव्हार

आपका ऐसा कोई व्यव्हार भी आपको ignore करने कर मुख्य कारण बन सकता हैं जैसे बहुत गुस्सा आना , और गुस्सा आने पर कुछ भी बोल देना, छोटी सी बात पर इर्रिटेड हो जाना , बात -बात पर डिसरेस्पेक्ट करना इत्यादि।

हमेशा जब भी किसी से मिले तो हंस कर मिले , आप अपने स्वाभाव से किसी को hurt ना करे बल्कि खुश करे।

आपका व्यवहार और स्वभाव ही आपकी पहचान हैं, लोग आपके सामने और आपके पीठ पीछे भी आपके स्वभाव और व्यव्हार की तारीफ करेंगे और आपसे हमेशा खुश रहेंगे।

Share This :