Why should be ready for every situation, क्योंकि हम सबको आज का पता हैं, कल क्या होगा किसी को नहीं पता होता हैं, और ठीक भी हैं अगर आने वाली परेशानियों के बारे में पहले से पता चल जाए तो शायद जीना बहुत ही मुश्किल हो जाएगा। इंसान कितना भी मस्त मौला क्यों ना हो, जब खुद पे पड़ती हैं तो बड़े – बड़ो की मनोदशा ख़राब हो जाती हैं, इसलिए हर व्यक्ति को कही ना कही हर विषम परिस्थित के लिए तैयार रहना चाहिए।

कभी – कभी जिंदगी में समस्याएं कुछ इस तरह से आपके जीवन में आ जाती हैं, जिनको चाह कर भी आप अनदेखा नहीं कर सकते हैं। एक बात तो बिलकुल सच हैं की जीवन में जितनी खुशियां हैं, उतने ही दुःख हैं, और हर व्यक्ति दुःख में शिकायत तो करता हैं, पर सुख होने पर कभी ईश्वर को धन्यवाद् नहीं करता हैं, और ये बात किसी एक व्यक्ति के साथ नहीं हैं, सभी के साथ हैं।

Why should be ready for every Situation
Why should be ready for every Situation

एक बात को अपने दिमाग में सबको बिठा लेना चाहिए की जीवन में जो सुख और दुःख लिखे हैं, वह आपको कभी ना कभी, किसी ना किसी रूप में जरूर मिल जाएंगे, फिर चाहे आप कितना ही संभल कर क्यों ना चले, इसलिए कभी अपने सुख पे इतराइये नहीं और दुःख आने पर घबराइए नहीं, यही जीवन का सार हैं।

हमे इसलिए हर परिस्थित में तैयार रहना चाहिए क्योंकि सुख और दुःख दोनों का आना निश्चित हैं।
जीवन में जो लोग सोचते हैं, की उनके ऊपर कभी परेशानिया नहीं पड़ेगी, वह भी सही नहीं हैं।
जब भी मुसीबत आये तो धैर्य बनाये रखना, पर हर व्यक्ति के धैर्य की अपनी एक सीमा होती हैं, इसलिए आप खुद को समझिये की आप क्या चाहते हैं, अक्सर कोई बात किसी व्यक्ति के लिए बहुत बड़ी होती हैं, और वही बात किसी के लिए बहुत छोटी होती हैं, इसलिए अपनी तुलना किसी से ना करे हर व्यक्ति अलग -अलग होता हैं।

यदि आप जीवन में अचानक आने वाली परेशानियों को अपने ऊपर हावी होने देंगे तो आप किसी भी बड़ी शारीरिक और मानसिक बीमारी का शिकार भी हो सकते हैं, जो की सबसे बड़ा नुक्सान होगा।

अपनी सोच और अपने विचारों को अपने कण्ट्रोल में रखना बहुत जरुरी हैं, अक्सर हम किसी भी परेशानी के आने पर इतनी ज्यादा overthinking कर लेते हैं की कुछ भी पॉजिटिव सोचने की या बोलने की situation में नहीं रहते हैं, इसलिए आप जितना ज्यादा अपने ऊपर संतुलन रखेंगे उतना ही अच्छा महसूस करेंगे और प्रोब्लेम्स से खुद को बचा पाएंगे।

अपने आस पास अच्छे और सच्चे दोस्तों और रिश्तेदारों को रखे, जो आपको सही राय दे, हालांकि आज कल के समय में अच्छे और सच्चे लोग कम ही मिलते हैं, पर फिर भी आप ढूंढेंगे तो कोई ना कोई तो जरूर होगा जिससे आप अपने मन की बात कह सकेंगे।
अपने आप को हिम्मत दे, जब तक आप खुद से लड़ना नहीं सीख लेंगे, तब तक आप ना किसी भी परेशानी को मैनेज कर पाएंगे और ना ही किसी भी समस्या का सही समाधान कर पाएंगे।

आज किसी को नहीं पता हैं, की अभी हंस रहे हैं, अगले पल किसी बात पर रोना पड़े, मैं आपको यहाँ डरा नहीं रही हूँ, और ना ही आपको नेगेटिव सोचने के लिए बोल रही हूँ, मैं बस आपको आगाह करना चाहती हैं, और इतना मजबूत बनाना चाहती हूँ की जब आप पर कोई मुसीबत पड़े तो आप उसका डट कर सामना कर सके।

कुछ विशेष बातों को ध्यान रखें……..

  • धैर्य रखे और शांति से सिचुएशन को समझे
  • सोच समझ कर बोले या काम करे
  • बिना जानकारी के कोई भी नया काम ना करे
  • योग्य और अनुभवी लोगो से सलाह ले
  • जितना जल्दी हो समस्या का निदान करे
  • अपने ईगो को बीच में ना लाये

कहते हैं की ईश्वर की इच्छा के बिना तो एक पत्ता भी नहीं हिलता हैं, इसलिए ईश्वर में विश्वास को बनाये रखना।

Share This :