शारीरिक और मानसिक विकास के लिए प्रॉपर नींद (Sleeping) लेना बहुत ही आवश्यक हैं, आज हम बात करेंगे Why Sleeping is Important for Students क्योंकि स्टूडेंट्स के लिए जितनी पढ़ाई आवश्यक हैं उतनी ज्यादा नींद भी जरुरी हैं, पर समय की कमी, और एग्जाम के प्रेशर के वजह से हर स्टूडेंट्स इस समस्या से जूझ रहा हैं।

हर किसी को लाइफ में एक बार स्टूडेंट्स के दौर से गुजरना ही पड़ता है और ये बहुत भाग्य की बात हैं , आज भी ना जाने कितने लोग हैं जिन्हे पढ़ाई का मौका ही नहीं मिलता हैं।

स्टूडेंट्स के लिए Sleeping इसलिए बहुत आवश्यक है क्योकि यदि उनकी नींद पूरी नहीं होगी तो उनका मन भी पढाई में नहीं लगेगा , और जब भी पढ़ने के लिए बैठेंगे तो बैठे -बैठे सो जायेगे , ऐसी पढ़ाई से कुछ भी हासिल नहीं होगा।

ऐसे में एक बात तो दिमाग में आती हैं हैं, की लाइफ में कुछ करने का मौका भी बार -बार नहीं मिलता है, अगर आज हमने अपनी नींद से कोम्प्रोमाईज़ नहीं किया तो कल पछताने के सिवा कुछ नहीं मिलेगा , पर दूसरी तरफ ये भी हैं की यदि नींद पूरी ना होने की वजह से यदि हम किसी भयानक बीमारी का शिकार हो गये तो भी पछताना पड़ेगा।

मतलब कही ना कही हर चीज के दो पहलू हैं , कभी सही तो कभी गलत हैं। आज हर बच्चे पर पढ़ाई का इतना ज्यादा प्रेशर हैं की वह ना चाहते हुए भी अपनी नींद से कोम्प्रोमाईज़ कर रहा है।

ज्यादा तर लोग नींद को इतना ज्यादा importance नहीं देते हैं जबकि उन्हें पता नहीं हैं, नींद पूरी ना होना एक बड़ी समस्या को पैदा कर सकता है।

Why Sleeping is Important for Students
Why Sleeping is Important for Students

सोना बहुत जरुरी है और बच्चो के लिए सोना तो बहुत ही जरुरी हैं। बच्चो का मन बहुत ही कोमल होता हैं , वह किसी भी चीज के लिए ज्यादा प्रेशर नहीं ले सकते , यदि हम उन पर पढ़ाई के लिए ज्यादा दबाव डालेंगे तब भी वह लाइफ में सफल नहीं हो पाएंगे।

  • अपने बच्चो को मेंटली फ्री रखे, किसी भी बात के लिए ज्यादा प्रेशर ना डाले।
  • सोने के लिए पर्याप्त समय दे , घर में ऐसा माहौल बनाये की वह समय से सो जाए और उठ भी जाए।
  • यदि नींद पूरी नहीं होगी, तो ना ही पढ़ाई में मन लगेगा और ना ही किसी अन्य काम में , इसलिए नींद का पूरा ख्याल रखे।
  • नींद पूरी ना होने से स्वभाव भी चिड़चिड़ा हो जाता है, हर छोटी से छोटी बात पर गुस्सा आने लगता हैं।
  • स्टूडेंट्स की याद करने की छमता भी कम हो जाती हैं।
  • पढ़ाई और नींद दोनों का बराबर ध्यान रखे, जब हेल्थ सही होगी पढ़ाई भी तभी अच्छी होगी।
  • यदि आप रात में पढ़ाई करते है तो दिन में थोड़ा सा सो जाए, मतलब दिन ८-९ घंटे सोना बहुत जरुरी हैं।
  • पूरे साल भर पढ़ाई करे, सही टाइम टेबल बनाये, जिससे ना ही एग्जाम में ज्यादा प्रेशर आएगा और ना ही आपको अपनी नींद से कोम्प्रोमाईज़ करना पड़ेगा।
  • स्टूडेंट्स को नींद और अच्छा खाना दो चीजे समय से मिलनी चाहिए। ये दोनों यदि सही रहेगी तो आपका पढ़ाई में मन भी लगेगा और आप जो भी लाइफ में करना चाहते हैं , वो कर भी पाएंगे।
  • स्टूडेंट्स लाइफ सबसे अच्छी होती है, इसमें जितना प्रेशर होता हैं उतना ही एन्जॉय भी होता हैं। ये बच्चो के बढ़ती उम्र होती है, इस उम्र में बच्चो का ध्यान रखने की जिम्मेदारी सबसे ज्यादा होती हैं।
  • नींद पूरी होने से विचार भी पॉजिटिव आते है।
  • नींद पूरी होने से आप काफी ऊर्जावान महसूस करेंगे।

आप किसी भी उम्र में हो, पर्याप्त नींद सबके लिए बहुत जरुरी हैं। सोना एक मेडिसिन्स की तरह हैं जो हमे रोज एक पर्याप्त मात्रा में लेनी पड़ती हैं और जिस दिन सही से नहीं सो पाते हैं , तो पूरा दिन बेकार निकल जाता हैं। पर्याप्त नींद लेने से आप स्वस्थ तो रहेंगे ही और हर काम में मन भी लगेगा।

लाइफ में जो भी लक्ष्य बनाया है , उसे पूरा करने के लिए निरंतर प्रयास करते रहे, रुके नहीं। एक दिन की पढ़ाई से कुछ नहीं होगा, पूरे वर्ष जो पढ़ाई की हैं वह ही आपके काम आएगी। इसलिए अपनी लाइफ में सब कुछ व्यवस्थित करे ना अव्यस्थित करे।

Share This :